गोडसे को लेकर साध्वी प्रज्ञा के बयान पर पीएम मोदी सख्त, बोले- मैं दिल से उन्हें कभी माफ नहीं कर पाऊंगा

  • 17 May,2019
  • 120 Views
गोडसे को लेकर साध्वी प्रज्ञा के बयान पर पीएम मोदी सख्त, बोले- मैं दिल से उन्हें कभी माफ नहीं कर पाऊंगा

नई दिल्ली: महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने वाले बयान पर भोपाल संसदीय सीट से बीजेपी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर पूरी तरह से घिर गई हैं। उनके इस बयान के बाद से बीजेपी का हाई कमान डैमेज कंट्रोल में जुटा हुआ है। न सिर्फ बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कड़े शब्दों में प्रज्ञा के बयान की निंदा की है। पीएम मोदी ने सख्त लहजे में कहा कि प्रज्ञा और बाकी लोग जो गोडसे और बापू के बारे में बयानबाजी कर रहे हैं, वह खराब है। भले ही प्रज्ञा ने माफी मान ली हो, लेकिन मैं दिल से उन्हें कभी माफ नहीं कर पाऊंगा।

 

पीएम नरेंद्र मोदी ने एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में प्रज्ञा के बयान पर नाराजगी जताते हुए कहा, ‘गांधी और गोडसे के संबंध भयंकर खराब है, हर प्रकार घृणा के लायक है, आलोचना के लायक है, सभ्य समाज में ऐसी बातें नहीं कही जा सकती हैं। ऐसा कहने वालों को आगे से 100 बार सोचना पड़ेगा।’ पीएम मोदी ने आगे कहा, ‘उन्होंने भले ही माफी मांग ली हो, लेकिन मैं दिल से कभी उन्हें माफ नहीं कर पाऊंगा।’

 

 

बता दें कि मालेगांव धमाके को लेकर भोपाल सीट से प्रज्ञा सिंह ठाकुर की उम्मीदवारी पर विपक्ष की तीखी आलोचना के बावजूद बीजेपी के कई नेताओं ने साध्वी का समर्थन किया था, लेकिन प्रज्ञा के बयानों से अब पार्टी को बैकफुट पर जाना पड़ा है। दूसरी ओर विपक्ष भी लगातार निशाना साध रहा है। विपक्ष का कहना है कि भोपाल सीट पर चुनाव हो जाने के बाद पीएम मोदी प्रज्ञा का विरोध कर रहे हैं। यह उन्हें पहले करना चाहिए था।

गोडसे को लेकर नेताओं के बयान पर बीजेपी की सफाई
इससे पहले नाथूराम गोडसे पर बीजेपी नेताओं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर, केंद्रीय मंत्री अनंत हेगड़े और सांसद नलीन कटील के बयानों पर सियासी बवाल के बाद बीजेपी ने सफाई जारी की। बीजेपी नेताओं के बयानों से भड़के पार्टी चीफ अमित शाह ने कहा कि इन नेताओं के ये बयान उनके निजी बयान हैं और पार्टी का इससे कोई लेना-देना नहीं है। शाह ने तीनों बयानों को अनुशासन समिति को भेजने की बात कही है। अनुशासन कमिटी सभी नेताओं से जवाब मांगेगी और 10 दिन के अंदर रिपोर्ट सौंपेगी।

 

 

बता दें कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे पर साध्वी प्रज्ञा और अनंत कुमार हेगड़े के बाद अब बीजेपी के सांसद नलीन कटील ने भी विवादित बयान दिया था। कर्नाटक की दक्षिण कन्नड़ सीट से सांसद नलीन कटील ने 1984 के सिख दंगों का हवाला देते हुए ट्विटर पर लिखा कि नाथूराम गोडसे ने तो एक व्यक्ति को ही मारा, लेकिन पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने तो 17 हजार लोगों को मारा। हालांकि विवाद बढ़ता देख नलिन ने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया। इससे पहले साध्वी प्रज्ञा ने नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया था, जबकि हेगड़े ने गोडसे के प्रति नजरिया बदलने की बात कही थी।

 

 

शाह का कड़ा रुख: सभी बयान निजी, पार्टी से संबंध नहीं
अमित शाह ने गोडसे को लेकर दिए बयानों पर कड़ा रुख दिखाते हुए कहा, ‘पिछले 2 दिनों में अनंतकुमार हेगड़े, साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर और नलीन कटील के जो बयान आए हैं वो उनके निजी बयान हैं, उन बयानों से बीजेपी का कोई संबंध नहीं है। इन लोगों ने अपने बयान वापस लिए हैं और माफी भी मांगी है। फिर भी सार्वजनिक जीवन और बीजेपी की गरिमा और विचारधारा के विपरीत इन बयानों को पार्टी ने गंभीरता से लेकर तीनों बयानों को अनुशासन समिति को भेजने का निर्णय किया है। अनुशासन समिति तीनों नेताओं से जवाब मांगकर उसकी एक रिपोर्ट 10 दिन के अंदर पार्टी को दे, इस तरह की सूचना दी गई है।’

 

 

 

 

Author : Ashok Chaudhary

Share With

Tag With

आपके लिए

You may like

Leave A Reply

Follow us on

आपके लिए

TRENDING