loading...

गोरखपुर:विवि की नियुक्तियों में दलितों-पिछड़ों का हक छीन रही सरकार: सपा

  • 09 February,2019
  • 71 Views
गोरखपुर:विवि की नियुक्तियों में दलितों-पिछड़ों का हक छीन रही सरकार: सपा

गोरखपुर: समाजवादी पार्टी नेताओं ने शुक्रवार को पदयात्रा निकाल गोरखपुर विश्वविद्यालय में शिक्षक भर्ती में 13 प्वाइंट रोस्टर का विरोध किया। नेताओं ने कहा कि इस रोस्टर के बहाने नियुक्तियों में दलितों-पिछड़ों का हक छीना जा रहा है। विवि गेट से पदयात्रा की निकली इस पदयात्रा की अगुवाई जिलाध्यक्ष प्रह्लाद यादव, महानगर अध्यक्ष जियाउल इस्लाम, महानगर महासचिव सिंहासन सिंह यादव, पूर्व विधायक विजय बहादुर यादव, विद्यार्थी नेता अनु प्रसाद और शिवशंकर गौड़ ने की।

-सपा ने विवि नियुक्तियों में 13 प्वाइंट रोस्टर के खिलाफ निकाली पदयात्रा

-जिलाध्यक्ष प्रह्लाद यादव और महानगर अध्यक्ष जियाउल इस्लाम की अगुवाई में निकली पदयात्रा

 

पदयात्रा, विवि गेट से होते हुए आरटीओ तिराहा, हरिओम नगर तिराहा होते हुए बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर चौराहे तक पहुंची। वहां सभा में बदल गई। सभा में जिलाध्यक्ष प्रह्लाद यादव ने आरोप लगाया कि केंद्र की भाजपा सरकार पहले गुपचुप तरीके से पिछड़ों-दलितों को उनके अधिकारों से वंचित कर रही थी प्रदेश में सरकार बनने के बाद 13 प्वाइंट रोस्टर लागू कर अब खुल्लमखुल्ला पिछड़ों-दलितों को प्रोफेसर, असिस्टेंट प्रोफसर बनने से रोका जा रहा है। महानगर अध्यक्ष जियाउल इस्लाम ने कहा कि 13 प्वाइंट रोस्टर प्रणाली लागू कर भाजपा सरकार ने बता दिया है कि वह देश के पिछड़ों-दलितों की कितनी बड़ी हितेषी है।

उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार देश के पिछड़ों-दलितों पर अत्याचार कर रही है। चाहे13 प्वाइंट रोस्टर प्रणाली हो या पिछड़ों-दलितों की छात्रवृत्ति का मामला हो भाजपा के लोग चाहते ही नहीं कि देश के दलित और पिछड़े वर्ग के लोग पढ़-लिख कर आगे आएं। भाजपा, पिछड़ों -दलितों को वर्षों पुरानी स्थिति में ही रखना चाहती है। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि विवि में 13 प्वाइंट रोस्टर प्रणाली को खत्म करके 200 प्वाइंट रोस्टर प्रणाली लागू नहीं की गई तो सपा आर-पार का संघर्ष छेड़ेगी।

 

पूर्व विधायक विजय बहादुर यादव ने कार्यकर्ताओं से इस मुद्दे पर सचेत रहने और लगातार संघर्ष करने का आह्वान किया। सभा में विद्यार्थी नेता शिव शंकर गौड़, अनु प्रसाद, सपा के महानगर महासचिव सिंहासन यादव, अवधेश पांडेय, धर्मराज यादव, इंद्रभान प्रजापति, राहुल गुप्त, वेंकटेश्वर तिवारी, मनोज यादव, अमर इमाम, बबलू नारायण चौरसिया, कैलाश राजभर, मोहम्मद हसन, रुस्तम अली, अमीरुद्दीन अंसारी और अशोक यादव सहित कई वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता मौजूद थे।

Author : Ashok Chaudhary
Loading...

Share With

Tag With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

Loading...

आपके लिए

TRENDING