loading...

पल पल दिल के पास रहें;

  • 09 December,2018
  • 129 Views
पल पल दिल के पास रहें;

 

Every moment be close to the heart- पल पल दिल के पास रहें

हर पल मुस्कुराओ जीवन कैसा भी हो, सुख दुःख से बढकर एक आस है जिन्दगी
न शिकायत करो न कभी उदास हो जिन्दा दिली से जीने का अहसास है जिन्दगी
पल पल दिल के पास रहो, खुद का ध्यान रखो, आपका आत्मविश्वास है जिन्दगी

 

आपकी जिन्दगी का हर एक दिन आपके लिए एक नया अवसर है। उसकी कीमत को पहचानिए यह अनमोल है। समय खर्च करके पैसा कमा सकते है पैसा खर्च करके समय नही पा सकते। अपनी खूबियों को पहचानिए और जीवन को बेहतर बनाने का प्रयास करिये, जिन्दगी को काटने की बजाये उसे जी भरकर जीना सीखिए। एक सफल एवं सुखद जीवन के लिए आपके दिलो-दिमाग में अच्छी सोच व् सकारात्मक विचार का होना बहुत जरुरी है। गलत व् नकारात्मक विचारो की कोई जगह नहीं होनी चाहिए।

HEART is not a basket for keeping tension and sadness. It is a golden box for keeping roses of happiness and sweet memories.

 

जीवन का मौजूदा समय कैसा भी हो, आपका अपना है उसे अपनापन दीजिये, जो प्राप्त है वही पर्याप्त है इसको स्वीकार करिये। जीवन को सुखी करने के दो ही तरीके है

 

– पहला जो हासिल है उसे पसंद कर लो, दूसरा जो पसंद है उसे हासिल कर लो। आपका जीवन आपकी पसंद और नपसंद का एक संग्रह मात्र है। अब तक आप ने जो सोचा है किया है, आज का जीवन उसी के प्रतिफल के रूप में मौजूद है। जब आपको जो हासिल है उसे पसंद कर लेते है, तो आपके दिल में ख़ुशी का अनुभव होता है, और एक खुश-दिल व्यक्ति के लिए अपनी मंजिल को हासिल करना आसान हो जाता है।

जीवन को बेहतर करने के लिए नित नयी चीजो को सीखते रहिये जीवन का कोई भी अनुभव कभी बेकार नही जाता है। आपकी पसंद एवं खूबियों को आपसे बेहतर कोई और नही जान सकता। खुद को पहचानिए और विश्वास करिए आप कुछ भी कर सकते है। अपने लिए कुछ अच्छा करना है तो किसी और का इंतजार न करें, न किसी और व्यक्ति का, न ही किसी और समय का। आप के जीवन के लिए सबसे बेहतर आज और आप ही है। आपको बस now को won करना है बाकी सब अपने आप होने लगेगा।

 

जीवन के सफ़र को सुखद व् सफल करने के लिए तन-मन रूपी एक उत्तम एवं अनिवार्य साधन
की जरुरत पड़ती है। आप के जीवन का प्रथम सुख आपकी सेहत है इसके बगैर किसी और सुख की कामना नही कर सकते। आप को अपने तन मन का पूरा ख्याल रखना है इसके लिए आप नियमित व्यायाम, संतलित खानपान, नियम संयम, अच्छी नीद, ध्यान करने एवं खुश रहने की पूरी जिम्मेदारी आपकी अपनी है। पल-पल, हर-पल आप अपने दिल के पास रहो, खुद का ध्यान रखो, आपका आत्मविश्वास ही आपकी मंजिल के सफ़र को सुखद व् सफल बना सकता है यही सफलता का मूलमंत्र है।

उम्मीद है कि यह लेख आपको पसंद आया होगा। आपके सुझाव व् विचार आमत्रित है। कमेंट के जरिये अपने विचारो से अवगत कराये। सहयोग व् सद्भावना के लिए इस लेख को अपने मित्रो के साथ शेयर करना न भूले।

Author : Ashok Chaudhary
Loading...

Share With

Tag With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

Loading...

आपके लिए

TRENDING