बस्ती: मृतक के केसीसी खाते से तीन साल बाद निकले 2.70 लाख

  • Line : TVL Team
  • 21 July,2019
  • 102 Views
बस्ती: मृतक के केसीसी खाते से तीन साल बाद निकले 2.70 लाख

बस्ती: पिता श्यामसुंदर की मौत के तीन साल बाद उनके केसीसी खाते से 2.70 लाख रुपए निकाले जाने से बेटा पवन परेशान है। मुंडेरवा थाना क्षेत्र के बैदाकला निवासी किसान पवन ने बैंक, पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों से शिकायत की है। लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

 

तहसील दिवस प्रभारी बस्ती सदर, एसबीआई मुंडेरवा के शाखा प्रबंधक व थानाध्यक्ष मुंडेरवा को दिए प्रार्थना पत्र में श्यामसुंदर के पुत्र पवन कुमार निवासी बैदा कला ने बताया कि उनके पिता की मृत्यु 20 जुलाई 2015 को हो गई। उनका केसीसी खाता एसबीआई मुंडेरवा में था। पवन ने बताया कि पिता के मृत्यु की सूचना उसने बैंक को दिया था।

पवन ने बताया कि 07 मार्च 2018 को किसी ने उनके पिता के केसीसी खाते में 70 हजार रुपया जमा किया। जमाकर्ता के तौर पर स्वयं खाताधारक का उपस्थित होना दर्शाया गया है। उसी दिन दो लाख रुपये की निकासी कर ली गई। यह रुपया के एक व्यक्ति के खाते में ट्रांसफर किया गया है। अगले दिन 08 मार्च 2018 को फिर से 70 हजार रुपये निकाला गया।

 

 

इन सभी प्रक्रिया का संचालनकर्ता के तौर पर बैंक ने स्वयं खाताधारक को दर्शाया है, जो संभव नहीं है। क्योंकि मेरे पिता की मौत तीन साल पहले हो चुकी थी। इस बात की जानकारी बैंक के अधिकारी व कर्मचारी भी जानते थे। यदि नहीं भी जानते थे तो हस्ताक्षर का मिलान करना था। फर्जी हस्ताक्षर से रुपये की निकासी के लिए बैंक ही जिम्मेदार है।

 

ऐसे हुए गबन का खुलासा

मृतक श्याम सुंदर के बेटे पवन के मुताबिक उनके पिता के केसीसी अकाउंट पर 1.64 लाख रुपए बैंक का बकाया है। बकाया राशि को जमा करने के लिए अपने खाते से 95 हजार रुपए पिता के केसीसी खाते में ट्रांसफर कर दिया। शेष बकाया राशि की जानकारी लेने बैंक पहुंचा तो स्टेटमेंट पता चला कि पिता के केसीसी खाते से किसी ने 2.70 लाख रुपए निकाल लिया। पवन के मुताबिक मृत पिता के खाते से रुपया निकालने की शिकायत उसने तहसील दिवस सदर के प्रभारी अधिकारी से की थी। बैंक अधिकारियों ने भी जांच शुरू की थी। अब पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग किया है। बावजूद अभी तक न्याय मिलता नहीं दिख रहा है।

 

 

‘शिकायत पर रुपया निकालने वालों के हस्ताक्षर और खाता धारक के हस्ताक्षर की जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा गया है। वहां से जांच रिपोर्ट आने के बाद संबंधित आरोपियों के खिलाफ विधिक कार्रवाई की जाएगी।

शाखा प्रबंधक, एसबीआई मुंडेरवा

Tag With

आपके लिए

You may like

Follow us on

आपके लिए

TRENDING