loading...

हर व्यक्ति के जीवन में दुख और खुशियां आती है और दोनों को बांटना जरूरी होता है

  • 23 January,2019
  • 96 Views
हर व्यक्ति के जीवन में दुख और खुशियां आती है और दोनों को बांटना जरूरी होता है

हर व्यक्ति के जीवन में दुख और खुशियां आती है | और दोनों को बांटना जरूरी होता है | खुशियां बाटेंगे तो दुगनी होगी वही दुख बाँटेंगे तो आधे रह जाएंगे | लेकिन सवाल यह उठता है कि इन्हें किस तरह से बांटे की खुशियां दुगनी यानी बढ़ जाए और दुख बांटे तो आधे रह जाऐ|जब हम खुश होते हैं तो हम हमारी खुशियों में सभी को शामिल करना चाहते हैं | लेकिन हम भूल जाते हैं कि कितने लोग हमारी खुशी को बर्दाश्त कर रहे हैं | खुशियां हर किसी को बर्दाश्त नहीं होती है खुशियां बांटे अवश्य लेकिन ऐसे लोगों से सतर्क रहें जो चापलूस हो ,जो वक्त के साथ पलड़ा बदलते हो ,जो मनभेद रखते हो , जो बदले की भावना रखते हैं!

 

 

ऐसे लोग हर राष्ट्र, समाज और परिवार में मिलते हैं ऐसे लोगों का तिरस्कार नहीं करें | उनके मान सम्मान में उन्हें कमी महसूस नहीं होने दें | उन्हें कभी महसूस नहीं होने दे कि खुशियां उनके जले पर नमक छिड़कने के लिए मनाई जा रही है|खुशियां बांट कर दुगनी करने के लिए हर ईमानदाराना प्रयास करें | ऐसा कोई कार्य नहीं करें जिसमें खुशियां गम में बदल जाए |

 

यह तो रही खुशियों की बात दुख को बांटने में भी सावधानी बरतने की आवश्यकता है | खुशियों में चाहे हम हर किसी को शामिल कर ले लेकिन दुख हमें हर किसी के साथ नहीं बांटना चाहिए यदि हम दुख हर किसी के साथ बाटेंगे तो हो सकता है दुख घटने के बजाए बढ़ जाए| जब दुःख बँट जाते है तो शरीर को बड़ा सकून मिलता है | शरीर का बोझ कम हो जाता है | अब सवाल यह है कि दुख किस तरह के लोगो में बाँटे ?खुशियों को बांटना आसान होता है| दुखो को बांटना थोड़ा मुश्किल होता है| क्योंकि खुशियों में हर कोई शामिल होना चाहता है लेकिन दुख में शामिल होने वाला ही असली खुशी देने वाला होता है |

 

 

इसलिए दुखो को उन लोगों से बांटें जो दुखों को खुशियों में बदलने की क्षमता रखते हैं, उन लोगों से शेयर करें जो आपके मन को पढ़ सकते है, उन लोगों से बाँटे जिन्होंने कभी आपके दिल को छुआ है, उन लोगो से बाँटे जिन्होंने दुःख उठाते हुए भी कभी यह एहसास नहीं होने दिया हो कि वह दुखी है, उन लोगों से बाटे जिन्होंने दुखो के पहाड़ों को फूलो के ढेरो में बदलकर खुशियों का चमन महकाया हो , जिन्होंने जहर को अमृत में बदलकर पिया हो , ऐसे लोगों से दुख अवश्य शेयर करें जो किसी जानवर के दुखी होने पर उसकी मदद को तैयार हो जाते हैं.

 

Author : Ashok Chaudhary
Loading...

Share With

Tag With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

Loading...

आपके लिए

TRENDING