बलरामपुर – आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को मिली दैनिक पोषाहार, बाल विकास निगरानी और ड्यूलिस्ट की जानकारी

  • Author : tvl7
  • 24 June,2019
  • 77 Views
बलरामपुर – आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को मिली दैनिक पोषाहार, बाल विकास निगरानी और ड्यूलिस्ट की जानकारी

बलरामपुर – सदर ब्लाक के स्वर्ण जयंती सभागर में आईसीडीएस कैस आधारित तीन दिवसीय प्रशिक्षण के दूसरे सत्र का समापन किया गया। प्रशिक्षण के माध्यम से आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को दैनिक पोषाहार, बाल विकास निगरानी और ड्यूलिस्ट के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई।

 

सोमवार को आयोजित द्वितीय सत्र के प्रशिक्षण के तीसरे दिन देहात परियोजना के सीडीपीओ राकेश शर्मा ने आंगनबाडी कार्यकत्रियों को आईसीडीएस-कैस (कॉमन एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर) एप्लीकेशन पर काम करने के विषय में जानकारी देते हुए बताया कि इस एप्लीकेशन से आंगनवाड़ी कार्यकत्रियां तकनीकी रूप से सक्षम हो पाएंगी। इस एप्लिकेशन को मोबाइल में डालने के बाद कार्यकत्री को रजिस्टर संभालने से छुटकारा तो मिलेगा एवं इससे आईसीडीएस की अन्य गतिविधियों की मॉनीटरिंग में भी आसानी हो जाएगी। यह एप्लिकेशन हमेशा अपडेट रहेगा जिससे कार्यक्रमों को आयोजित करने में विशेष मदद मिलेगी। 11 रजिस्टरों में 10 रजिस्टर ऑनलाइन होने से आंगनवाड़ी सेविकाओं को सेवा प्रदायगी पर अधिक ध्यान देने के लिए अतिरिक्त समय भी मिल पाएगा।मुख्य सेविका व प्रशिक्षक पर्मिला पाण्डेय, प्रीतिमा श्रीवास्तव व किरन त्रिपाठी ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को बताया कि आईसीडीएस कैस एप्लीकेशन से आईसीडीएस सेवाओं की ऑनलाइन एंट्री शुरू होगी जिससे प्रदान की जाने वाली सेवाओं के कुशल प्रबंधन के साथ उन सेवाओं की ब्लॉक, जिला एवं राज्य स्तर पर बेहतर निगरानी सुनिश्चित करने में आसानी होगी। इससे प्रदान की जाने वाली सेवाओं को सशक्त करने में मदद तो मिलेगी ही साथ में पोषाहार परिणामों की रियल टाइम मॉनिटरिंग भी की जा सकेगी।प्रशिक्षक व पोषण सखी अनिता तिवारी, मीरा तिवारी व सोनिका मिश्रा ने बताया कि दैनिक पोषाहार के तहत 3 से 6 वर्ष के बच्चों को पोषाहार बाॅटना, एप में उपस्थिति भरना, हाॅटकुक के तहत बच्चों को खाना खिलाकर फोटो ग्रुप पर अपलोड करना, बाल विकास निगरानी के तहत 0 से 3 वर्ष के बच्चों का वजन हर माह, 3 से 6 वर्ष के बच्चे का वजन तीसरे माह, कुपोषित बच्चों का वनज माह में दो बार करना अनिवार्य है। ड्यूलिस्ट के तहत बच्चों का सम्पूर्ण टीकाकरण, लाभार्थियों की संख्या और गर्भवती महिला की प्रसव पूर्व जांच की जानकारी एप में फीड करते रहना है। प्रशिक्षण के दौरान सुनीता, रेनू राव, पूनम मिश्रा, मीना, पुष्पा, रचना वर्मा, कालिंदी त्रिपाठी, लक्ष्मी शर्मा, गोमती देवी, गीता देवी, मिथलेश, किरन तिवारी व कनकलता सहित दूसरे सत्र में तीन बैच की 90 आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां मौजूद रहीं।

 

सुरेश त्रिपाठी ब्यूरो

Tag With

आपके लिए

You may like

Follow us on

आपके लिए

TRENDING