loading...

बस्ती: खराब एंबुलेंस सेवा के चलते मरीज़ो को हो रही काफ़ी परेशानी

  • 06 December,2018
  • 83 Views
बस्ती: खराब एंबुलेंस सेवा के चलते मरीज़ो को हो रही काफ़ी परेशानी

बस्ती: एक तरफ जहाँ प्रदेश सरकार लोगो की स्वास्थ्य को लेकर आए दिन कोई ना कोई बड़ा कदम उठाती रहती हैं, तो वहीं दूसरी तरफ स्वास्थ्य विभाग मरीजों का विश्वास जीतने में असफल साबित हो रहा है। हम ऐसा इसलिए बोल रहे हैं, क्योकि मरीजों को अस्पतालो तक पहुंचाने का मुख्य साधन इन दिनों अव्यवस्था और राजनीति की भेंट चढ़ गया है। हम आपको बता दे कि प्रदेश अव्यवस्था के चलते जहाँ एक एंबुलेंस पंक्चर पड़ी हुई है तो बाकी की 8 एंबुलेंस के इंजनो में खराबी है। कोई सप्ताह भर से तो कोई महीनों से मरम्मत के इंतजार में खड़ा है। हम आपको बता दे कि सरकार ने जरूरतमंदों के लिए 108 और 102 नंबर की एंबुलेंस की सेवा दे रखी है। परंतु खराब व्यवस्था के चलते हाल यह है कि ज्यादातर एंबुलेंस खराब पड़ी हुई है और उनकी खराबी पर अभी तक किसी भी अधिकारी की नजर ही नहीं पड़ी है।

 

 

 

 

एंबुलेंस की खराबी के चलते मरीज़ो का काफ़ी दिक्कतो का सामना करना पद रहा हैं| जिसके चलते मरीज दूसरे साधनों से अस्पताल और घर पहुंच रहे हैं। हम आपको बता दे कि खराब पड़ी एंबुलेंस के चलते मरीजों का भरोसा अब सरकारी एंबुलेंस सेवा से उठ चुका है। हम आपको बता दे कि एंबुलेंस खराब ही नही बल्कि अधिकतर एंबुलेंस में तत्काल ट्रीटमेंट के उपकरण भी उपलब्ध नहीं हैं। अगर आंकड़ों पर यकीन किया जाए तो जनपद में महिला अस्पताल, जिला अस्पताल, ओपेक चिकित्सालय कैली और 15 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सीएचसी पर मरीजों को लाने ले जाने के लिए तकरीबन 63 एंबुलेंस लगाई गई हैं। जिसमे से दो एंबुलेंस लाइफ स्पोर्ट सिस्टम (एएलएस) शामिल हैं। वहीं नौ 102 के 5 व 108 के 4 एंबुलेंस खराब होने के कारण संचलन से बाहर हैं। यूपी 41 जी 2936 लंबे समय से पंक्चर है।

 

 

 

 

यहाँ तक क़ी महिला अस्पतालो में सरकार द्वारा मरीजों के लिए हेल्प डेस्क स्थापित किए गये हैं, जो की कभी समय से नहीं खुलता। जिसके चलते अस्पतालो मे आए मरीजों को काफी परेशानियो का सामना करना पड़ता है। हम आपको बता दे कि हेल्प डेस्क को लेकर अस्पतालो मे हर दिन हो-हल्ला मचता रहता हैं, फिर भी अधिकारी इस पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। बताया जा रहा हैं कि बीते मंगलवार 04 दिसंबर 2018 को सुबह 11 बजे तक कोई भी कर्मचारी हेल्प डेस्क पर उपलब्ध नहीं था, जिससे की मामला और बिगड़ गया| मरीजों के हल्ला मचाते देख जैसे ही कुछ ज़िम्मेदारो की नींद खुली तो किसी तरह इस मामले को सुलझाया गया| डा. सीएल कन्नौजिया, डिप्टी सीएमओ नोडल अधिकारी ने बताया कि जिले में खराब पड़ी 9 एंबुलेंस की जानकारी हमे है। उन्होने कहाँ की इस संबंध में अस्पतालो से रिपोर्ट मांगी जाएगी और फिर जांच की जाएगी कि किस एंबुलेंस में क्या कमी है। डा. सीएल कन्नौजिया ने कहा कि मरीजों को शिकायत पर, मरीजों को एंबुलेंस की सेवा प्राप्त हो रही हैं या नही इसकी जांच की जाएगी और अगर इसमे किसी भी प्रकार की कोई गड़बड़ी पाई जाती हैं तो उन पर उचित कार्यवाई होगी।

 

 

Author : Ankit Gupta
Loading...

Share With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

Loading...

आपके लिए

TRENDING