भूपेश बघेल सरकार का फैसला – छत्तीसगढ़ में बिना अनुमति जांच नहीं कर पाएगी CBI

  • 11 January,2019
  • 189 Views
भूपेश बघेल सरकार का फैसला – छत्तीसगढ़ में बिना अनुमति जांच नहीं कर पाएगी CBI

नई दिल्ली/रायपुर: पश्चिम बंगाल और आंध्रप्रदेश ( West Bengal and Andhra Pradesh) के बाद कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ ने भी राज्य में मामलों की जांच के लिए केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) को दी गयी सामान्य सहमति वापस ले ली है| छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल (Chhattisgarh CM Bhupesh Baghel) ने कहा कि,  संघीय व्यवस्था में यह प्रावधान है कि यदि सीबीआई किसी राज्य में जांच के लिए आती है, तो राज्य अनुमति दे भी सकता है और नहीं भी। उन्होने यह भी कहा कि, हालाँकि, अगर उच्च न्यायालय या सर्वोच्च न्यायालय (High Court or Supreme Court ) द्वारा कोई आदेश दिया जाता है जो इसे अनिवार्य करता है, तो राज्य सरकार इसे अनुमति देने के लिए बाध्य है|

 

 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अगुवाई वाली छत्तीसगढ़ सरकार (Chhattisgarh government) ने कल यानि गुरुवार को केंद्र सरकार से अनुरोध किया कि ‘राज्य में किसी भी ताजा मामले की जांच के लिए सीबीआई को अधिकार क्षेत्र का प्रयोग नहीं करने का निर्देश दिया जाए।  छत्तीसगढ़ सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्रालय और कार्मिक मंत्रालय को पत्रकर लिखकर मांग की है | अधिकारियों ने बताया कि, छत्तीसगढ़ सरकार के गृह विभाग ने वर्ष 2001 में इस बारे में केन्द्र को दी गई सहमति वापस ले ली है।

 

 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि, पिछले कुछ महीनों में केंद्र की एनडीए सरकार(NDA Government) ने सीबीआई की विश्वसनीयता को संकट में डाल दिया है। इसलिए अब यह ठीक नहीं लगता कि सीबीआई को हम अपने राज्य में मनमर्ज़ी की कार्रवाई करने की छूट दें। सीएम ने कहा कि, हम एक संघीय ढांचे में काम करते हैं, और CBI को जिस तरह से राज्य में आकर काम करने की छूट दी गई थी उससे कानून व्यवस्था पर राज्य के अधिकारों का हनन हो रहा था। इस आदेश से CBI का प्रदेश में आना प्रतिबंधित नहीं हुआ है|  लेकिन अब किसी भी कार्रवाई से पहले एजेंसी को सरकार से अनुमति लेनी होगी।

 

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि, अलग-अलग विचारों का सम्मान करना ही लोकतंत्र की खूबसूरती है, चाहे हम उससे सहमत हों या असहमत। हम सभी को मिलकर एक ऐसे समाज का निर्माण करना है जिसकी कल्पना महात्मा गांधी ने की थी। उन्होने कहा कि, झीरम घाटी में अपने नेताओं को खोने के बाद से ही मेरे मन से मौत का डर समाप्त हो चुका है. अब जब मौत का ही भय नहीं तो सीबीआई से डर कैसा….?

 

 

 

बता दें कि, यह कदम उसी दिन उठाया गया है जिस दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाले एक पैनल ने आलोक वर्मा को सीबीआई प्रमुख के पद से हटाते हुए उन्हें अग्निशमन सेवा, नागरिक रक्षा और होमगार्ड्स महानिदेशक (DG) के पद पर नियुक्त किया है| फिलहाल पीएम मोदी की अध्यक्षता में चयन समिति द्वारा सीबीआई निदेशक के पद से हटाए जाने के एक दिन बाद आलोक वर्मा ने नौकरी से इस्तीफा दे दिया है|

 

 

 

 

 

 

Author : kapil patel

Share With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

आपके लिए

TRENDING