loading...

गोंडा: मासूम बच्ची का पांच लोगों ने किडनैप कर किया गैंगरेप, पाँचो अपराधी फरार, पुलिस ने शुरू की छानबीन

  • 04 December,2018
  • 215 Views
गोंडा: मासूम बच्ची का पांच लोगों ने किडनैप कर किया गैंगरेप, पाँचो अपराधी फरार, पुलिस ने शुरू की छानबीन

गोंडा: सरकार द्वारा महिलाओ और बेटियों की सुरक्षा के लिए किए गए तमाम दावों के बाद भी आए दिन महिलाओ व बेटियो के साथ छेड़छाड़ की घटनाए दिन-प्रतिदिन सुनने को मिलती है| सरकार द्वारा बेटियो की सुरक्षा के लिए कई बड़े-बड़े वादे किए गए है लेकिन अभी तक महिलाओ व बेटियो के साथ छेड़छाड़ और रेप जैसी घटनाओ के हालात मे सुधार नही हो पा रहा हैं। ऐसे मे रेप की एक ओर घटना सामने आई है, जहाँ कुछ अपराधियो ने मिलकर जिले की एक अनुसूचितजाति की एक नाबालिग बालिका का अपहरण कर पांच लोगों ने गैंगरेप जैसी शर्मनाक घटना को अंजाम दिया है| राजकीय रेलवे पुलिस ने बालिका को अपने साथ ले गई और उसे बाल सुधार गृह भेज दिया| बाल सुधार गृह से घर आई बालिका के परिजनों ने अपहरण, पास्को, गैंग रेप तथा अनुसूचित एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर बालिका को मेडिकल के लिए भेजा गया|

 

 

 

खबरो के मुताबिक बताया जा रहा है कि मोतीगंज थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी की 13 वर्षीय पुत्री को पाँच युवक बुआ के घर छोड़ने के बहाने से बाइक पर बैठा कर गोंडा ले आए जहां उन्होने बच्ची को कुछ नशीला पदार्थ खिलाकर पांचों युवकों ने एक कमरे में बारी बारी से उसके साथ दुराचार किया और फिर प्रातः चार युवक वापस आ गये परंतु एक युवक बालिका को नशे की हालत में मुंबई ले गया। जहां कल्याणपुर स्टेशन पर उतरने के बाद जब आगे चलने की बात पर पीड़ित बच्ची ने “कहां ले आने” की बात पूंछी तो पता चला ये मुंबई है। मुंबई के कल्याण पुर स्टेशन पर उतरकर जब पीड़िता के साथ युवक बैग लेकर आगे चलने लगा तो बच्ची ने पास से गुजर रही एक महिला का पैर पकड़ लिया और उससे मदद माँगने लगी, तभी स्टेशन पर मौजूद लोगो मे से किसी ने जीआरपी टीम को सूचित कर दिया। खबर मिलते ही जीआरपी टीम तुरंत वहाँ पहुँची परंतु इस बीच युवक भागने में सफल रहा। मौके पर पहुंची जीआरपी टीम बच्ची को थाने ले गई और उसे बाल सुधार गृह के हवाले कर दिया, जहां से सूचना मिलने पर बच्ची के पिता उसे वापस घर ले आए।

 

 

 

पीड़ित बच्ची के पिता ने पुलिस पर आरोप लगाए है कि वह हमारी किसी भी प्रकार से मदद नही कर रही है और रिपोर्ट दर्ज करने से भी मना कर दिया है| खबरो के मुताबिक बताया जा रहा है कि लड़की के गोंडा आने पर पिता ने मोतीगंज थाने में मुकदमा दर्ज कराने के लिए हफ़्तों तक चक्कर लगाया, लेकिन पुलिस उनकी रिपोर्ट लिखने को तैयार नहीं थी तो पीड़ित मुख्यालय पहुंचकर थाना प्रभारी अपर पुलिस अधीक्षक महावीर सिंह से मिली जिनके आदेश पर मुकदमा दर्ज हुआ। पुलिस अधीक्षक महावीर सिंह ने बताया कि मोतीगंज थाने में विदेश्वरी, टिंकू, कालिया, विजयी, बल्ले तिवारी के खिलाफ पास्को, अपहरण, गैंगरेप सहित कई अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर पीड़ित बालिका को मेडिकल जाँच के लिए भेजा गया है।

 

 

Author : Ankit Gupta
Loading...

Share With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

Loading...

आपके लिए

TRENDING