2002 गुजरात दंगा मामला: सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात सरकार को दिया आदेश, पीड़िता बिलकिस बानो को 50 लाख रुपये और सरकारी नौकरी दो

  • Author : kapil patel
  • 23 April,2019
  • 220 Views
2002 गुजरात दंगा मामला: सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात सरकार को दिया आदेश, पीड़िता बिलकिस बानो को 50 लाख रुपये और सरकारी नौकरी दो

नई दिल्ली: 2002 Gujarat Riots Case: 2002 गुजरात दंगा बिलकिस बानो रेप केस में सुप्रीम कोर्ट ने आज बड़ा फ़ैसला सुनाया है| सुप्रीम कोर्ट ने आज गुजरात सरकार को निर्देश दिया कि बिलकिस बानो के साथ सामूहिक बलात्कार मामले में 50 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाए| सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात सरकार को बिलकिस बानो को एक सरकारी नौकरी और नियमानुसार आवास प्रदान करने का भी निर्देश दिया है।

 

 

सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात सरकार को 2002 गुजरात दंगा मामले की बलात्कार पीड़िता बिलकिस बानो 50 लाख रुपये का मुआवजा देने के आदेश दिए| सुप्रीम कोर्ट ने सरकारी नौकरी और आवास देने को भी कहा है| गुजरात सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि दोषी अधिकारियों को जिन्होंने बिलकिस गैंगरेप मामले में सबूतों के साथ छेड़छाड़ करने की कोशिश की, उनमें से कई को पूरे पेंशन लाभ से हटा दिया गया| एक IPS अधिकारी को दो रैंकों में डिमोट किया गया है|  सुप्रीम कोर्ट ने पुलिस वालों पर कार्रवाई पर मुहर लगा दी है|

 

 

 

 

2002 के गुजरात दंगों के दौरान बिलकिस बानो सामूहिक बलात्कार मामले सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की. पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात सरकार को मामले में जांच मेंछेड़छाड़ के लिए हाईकोर्ट द्वारा दोषी ठहराए गए छह पुलिसकर्मियों के खिलाफ क्या अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाए यह तय करने के लिए कहा था. कोर्ट ने गुजरात सरकार निर्देश दिया था कि 2002 के बिलकिस बानो मामले में दोषी ठहराए गए पुलिस अधिकारियों के खिलाफ दो सप्ताह के भीतर अनुशासनात्मक कार्रवाई पूरी की जाए

 

 

गौरतलब है कि, बिलकिस बानों ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर कहा था कि इस केस में उसे और भी मुआवजा दिलाया जाए| साथ ही कहा गया कि जिन चार पुलिसवालों व दो डॉक्टरों को हाईकोर्ट ने दोषी ठहराया था, उनकी जानकारी के मुताबिक- उन्हें सरकार ने वापस काम पर रख लिया था| कोर्ट ने गुजरात सरकार से जवाब मांगने के साथ ही बिलकिस को कहा था कि वह मुआवजे के लिए अलग से याचिका दाखिल करे|

 

 

गौरतलब है कि 2002 में गुजरात में हुए सांप्रदायिक दंगों के दौरान अहमदाबाद के पास रंधिकपुर गांव में बिलकिस बानो के घर पर भीड़ ने हमला किया था। इस हमले में बिलकिस के परिवार के सात लोगों को कत्ल कर दिया गया था और पांच महीने की गर्भवती बिलकिस के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया था।  गोधरा कांड के बाद गुजरात में हुये दंगों के दौरान बिल्कीस बानो बलात्कार कांड और उनके परिवार के सात सदस्यों की हत्या के मामले में विशेष अदालत ने 21 जनवरी, 2008 को 11 आरोपियों को उम्र कैद की सजा सुनाई थी जबकि पुलिसकर्मियों और चिकित्सकों सहित सात आरोपियों को बरी कर दिया था|

 

 

 

 

आपके लिए

You may like

Follow us on

आपके लिए

TRENDING