महाराष्ट्र : CRPF पोलिंग बूथ पर मतदान दल के साथ जा रही गढ़चिरौली में नक्सलियों ने किया हमला, IED ब्लास्ट की चपेट में आए कई जवान

  • 10 April,2019
  • 203 Views
महाराष्ट्र : CRPF पोलिंग बूथ पर मतदान दल के साथ जा रही गढ़चिरौली में नक्सलियों ने किया हमला, IED ब्लास्ट की चपेट में आए कई जवान

गढ़चिरौली : महाराष्ट्र के गढ़चिरौली इलाक़े में आज फिर नक्सलियों ने हमला किया|  गढ़चिरौली के एट्टापल्ली के गट्टा इलाके में सीआरपीएफ की 191 बटालियन पर नक्सलियों ने हमला किया| गढ़चिरौली के एट्टापल्ली के गट्टा इलाके में मतदान से एक दिन पहले सीआरपीएफ की 191 बटालियन पर नक्सलियों द्वारा किए गए एक आईईडी(IED) हमले में एक सुरक्षाकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गया है|

 

घटना उस समय हुई जब सीआरपीएफ की टीम पोलिंग बूथ पर मतदान दल के साथ जा रही थी।बताया जा रहा है नक्सलियों द्वारा CRPF की पेट्रोलिंग टीम पर किए गए IED ब्लास्ट की चपेट में कई जवान आए हैं| इनमें से एक की हालत नाजुक बताई जा रही है. जवानों को हेलीकॉप्टर की मदद से वहां से निकाला जा रहा है| सभी घायल जवानों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उन्हें प्राथमिक उपचार दिया जा रहा है|

 

इससे पहले छत्तीसगढ़ में राजनांदगांव जिला रिजर्व ग्रुप (DRG) और स्पेशल टास्क फोर्स (STF) की संयुक्त टीम ने राजनांदगांव के बुकमार्का पहाड़ी पर आज नक्सलियों पर हमला किया। पुलिस टीम ने नक्सल शिविर को Reiterated और नष्ट कर दिया। संयुक्त टीम ने सामग्री बरामद की|

 

बता दें कि कल यानी मंगलवार को छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने भाजपा के काफिले पर हमला कर दिया था| दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने भाजपा विधायक भीमा मंडावी काफिले पर हमला कर दिया था| नक्सली हमले में बीजेपी MLA भीमा मंडावी समेत 5 की मौत हो गई थी| आईईडी विस्फोट में भाजपा विधायक भीमा मंडावी, उनके ड्राइवर और 3 पीएसओ की मौत हो गई थी|

 

नक्सली हमले पर दंतेवाड़ा एसपी अभिषेक पल्लव कहा है कि, भाजपा विधायक भीमा मंडावी को पुलिस ने इलाके का दौरा नहीं करने की सलाह दी थी। हमले के बाद, दोनों ओर से गोलीबारी आधे घंटे तक जारी रही। भाजपा विधायक की कार के पीछे एक कार में 5 और सुरक्षाकर्मी सवार थे|

 

Dantewada नक्सल हमले पर स्पेशल डीजी (एंटी-नक्सल अभियान) डीएम अवस्थी ने कहा कि, भाजपा विधायक भीमा मंडावी, उनके ड्राइवर और 3 पीएसओ ने अपनी जान गंवा दी है। बछेली पीएस इंचार्ज ने भाजपा विधायक को सूचित किया था कि कुआकोंडा के पास मार्ग पर पर्याप्त सुरक्षा मौजूद नहीं है और उन्हें वहां नहीं जाना चाहिए।

 

घटना के तुरंत बाद छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई थी। हमले पर दुख व्यक्त करते हुए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा था कि, हमारे विधायक साथी भीमा मंडावी और चार जवान नक्सली हमले का शिकार हुए हैं। झीरम हमले के बाद संसदीय लोकतंत्र पर यह एक और बड़ा और अत्यंत निंदनीय हमला है। मैं बेहद विचलित हूं, स्तब्ध हूं। दुःख व्यक्त करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं।

 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा था कि, इस पीड़ा को हमसे ज्यादा कौन समझेगा जिन्होंने अपने नेताओं की एक पूरी पीढ़ी एक बड़े नक्सल हमले में खो दी थी। हमारी सरकार बस्तर सहित पूरे छग में आदिवासी जनता का विश्वास जीतने के लिए सतत काम कर रही है। इस बात से नक्सली बौखला रहे हैं। यह जघन्य वारदात उनकी इसी बौखलाहट का नतीजा है।

 

उन्होने कहा था कि, हम एक बार फिर दृढ़ता के साथ संसदीय लोकतंत्र को मजबूत करने की अपनी लड़ाई के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हैं। मैं शीर्ष अधिकारियों के साथ घटना की समीक्षा कर रहा हूं। मैंने अधिकारियों के लिए निर्देश दोहराया है कि नक्सली गोलियों का जवाब उनकी भाषा में ही दिया जाए।

 

 

Author : kapil patel

Share With

आपके लिए

You may like

Leave A Reply

Follow us on

आपके लिए

TRENDING