loading...

मसूद अजहर पर चीन द्वारा अड़ंगा लगाए जाने के बाद भारत ने कहा- जब तक हो सकेगा हम धैर्य दिखाएंगे, हम आशावादी हैं|

  • 16 March,2019
  • 72 Views
मसूद अजहर पर चीन द्वारा अड़ंगा लगाए जाने के बाद भारत ने कहा- जब तक हो सकेगा हम धैर्य दिखाएंगे,  हम आशावादी हैं|

नई दिल्ली:  चीन ने जैश-ए-मोहम्मद के मुखिया और आतंकी मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित किए जाने के मामले पर वीटो का इस्तेमाल करके अड़ंगा डाल दिया था। सूत्रों के मुताबिक, चीन ने मसूद अजहर को UNSC में वैश्विक आतंकवादी के रूप में नामित करने के लिए भारत की बोली को अवरुद्ध कर दिया था| सूत्रों का कहना है कि, चीन के इस कदम से भारत नाराज है।  हम अभी भी मंजूरी समिति के सदस्यों के साथ काम कर रहे हैं। यूएनएससी ( UNSC ) के सह-प्रायोजकों के प्रस्ताव का कोई बड़ा बयान नहीं है। होल्ड ब्लॉक नहीं है। हम आशावादी हैं|

 

 

सूत्रों का कहना है कि, भारत जब तक हो सकेगा वह धैर्य दिखाएगा, हम सतर्क रूप से आशान्वित हैं, कि जैश-ए-मोहम्मद (JeM) के प्रमुख मसूद अजहर ( Masood Azhar)  को सूचीबद्ध किया जाएगा। ऐसे मुद्दे चीन द्वारा पाक के साथ हल करने के लिए हैं। भारत के पास 14 सदस्यों का मजबूत समर्थन है|

 

 

सूत्र: चीन भी जानता है कि आतंकवाद एक चुनौती है, वे जानते हैं कि यह पाकिस्तान से संचालित होता है। भारत करेगा सब्र पाकिस्तान अनिश्चितकालीन बचाव में राजनयिक पूंजी खर्च कर रहा है। इसकी क्रिया कॉस्मेटिक है। अमेरिका भारत का समर्थन करता है और उसने आश्वासन दिया है कि पाकिस्तान कार्रवाई करेगा।

 

UNSC के सूत्रों का कहना है, भारत ने इस्तेमाल किए गए हथियारों पर अमेरिका के साथ चिंता जताई अमेरिका ने वास्तविक समय में अपनी स्थिति साझा करने के लिए भारत की सराहना की और इस बात की सराहना की, कि पाक के बयान लेने के लिए अमेरिका में कोई भी व्यक्ति नहीं है जो भारत को खतरा पैदा कर रहा है|

 

सूत्र: भारत जानता है कि पाकिस्तान में कोई भारतीय नहीं हैं। पाकिस्तान उन भारतीयों को सौंप सकता है जो भारत की वांछित सूची और अंतर्राष्ट्रीय आतंकी सूची में शामिल हैं-दाऊद इब्राहिम और सईद सलाहुद्दीन। बहुत विशिष्ट विवरण साझा किए गए थे, अगर पाक को लगता है कि भारत सत्यापन नहीं कर सकता है, तो वह अंतर्राष्ट्रीय सत्यापन प्राप्त कर सकता है|

 

 

चीन के सूत्रों ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (United Nations Security Council) में वैश्विक आतंकवादी के रूप में जेएम प्रमुख मसूद अजहर को नामित करने के लिए भारत की बोली को वीटो का इस्तेमाल करके रोड़ा अटकाया था| सूत्रों का कहना है, चीन के पास पर्याप्त जानकारी है कि पाकिस्तान में चीन के खिलाफ काम करने वाले समूह हैं।

 

 

 

 

आपको बता दें कि, चीन द्वारा अड़ंगा लगाए जाने के बाद विदेश मंत्रालय ने निराशा जताई थी। विदेश मंत्रालय ने कहा था,- हम इस परिणाम से निराश हैं। इसने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय द्वारा कार्रवाई (जेएम) के नेता को नामित करने के लिए कार्रवाई को रोक दिया है, जो एक पेशेवर और सक्रिय आतंकवादी संगठन है जिसने 14 फरवरी 2019 को जम्मू और कश्मीर में आतंकवादी हमले की जिम्मेदारी ली है।

 

 

मंत्रालय ने कहा था- हम सदस्य राज्यों के प्रयासों के लिए आभारी हैं जिन्होंने पदनाम प्रस्ताव और अन्य सभी सुरक्षा परिषद के सदस्यों की अभूतपूर्व संख्या के साथ-साथ गैर-सदस्य जो सह-प्रायोजक के रूप में शामिल हुए थे, हम उनके लिए आभारी हैं।  हम यह सुनिश्चित करने के लिए सभी उपलब्ध मार्ग अपनाएंगे कि आतंकवादी नेता हमारे नागरिकों पर जघन्य हमलों में शामिल हैं।

 

 

Author : kapil patel
Loading...

Share With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

Loading...

आपके लिए

TRENDING