भुवनेश्वर में जब फोटो खींच रहे फोटोग्राफर के सीढ़ियों से गिरने पर खुद उठाने पहुंचे राहुल गांधी: देखें Video

  • 25 January,2019
  • 337 Views
 भुवनेश्वर में जब फोटो खींच रहे फोटोग्राफर के सीढ़ियों से गिरने पर खुद उठाने पहुंचे राहुल गांधी: देखें Video

भुवनेश्वर: उत्तर प्रदेश के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज यानी शुक्रवार को ओडिशा दौरे पर पहुंचे। जब वह भुवनेश्वर एयरपोर्ट के बाहर निकल रहे थे तभी एक ऐसी घटना घटी जिस पर सबकी निगाहें टिकी रह गईं|एयरपोर्ट के बाहर पत्रकार और फोटोग्राफर राहुल गांधी का इंतजार कर रहे थे| जब वो बाहर निकले तो उनकी फोटो क्लिक करने की होड़ मच गई|  इसी दौरान  भुवनेश्वर एयरपोर्ट पर राहुल गांधी की तस्वीर खींच रहा फोटोग्राफर लड़खड़ाकर गिर गया। जैसे  ही कांग्रेस अध्यक्ष की नजर पड़ी वह उसे उठाने के लिए खुद आगे बढ़ गए।

 

 

AICC चीफ राहुल गांधी सीढ़ियों से गिरे एक फोटोग्राफर की मदद करने के लिए खुद दौड़े, जब भुवनेश्वर एयरपोर्ट पर पार्टी सदस्यों द्वारा पूर्व का स्वागत किया जा रहा था।

 

 

फोटोग्राफर को गिरा हुए देखकर राहुल गांधी तुरंत उसके नजदीक गए और उसे हाथ देकर उठाया| यह घटना कैमरे में कैद हो गई जिसे सोशल मीडिया पर खासा शेयर किया जा रहा है| ओडिशा कांग्रेस ने एक Video मोदी और राहुल की इस घटना को लेकर भी शेयर किया

 

 

 

इसके अलावा भुवनेश्वर में एक कार्यक्रम के दौरान लोगों के साथ बातचीत के दौरान राहुल गांधी ने मोदी सरकार और आरएसएस पर जमकर निशाना साधा और लोकतांत्रिक संस्थानों को बर्बाद करने का आरोप लगाया| उन्होंने कहा कि मोदी सरकार आरएसएस यानी संघ के इशारे पर संस्थाओं को बर्बाद कर रही है|

 

राहुल गांधी ने कहा कि, आरएसएस का मानना ​​है कि यह देश का एकमात्र संस्थान होना चाहिए। यह विचार सभी संस्थानों में व्यवस्थित रूप से घुसना है। हमारा मानना ​​है कि संस्थानों को स्वतंत्र होना चाहिए|

 

राहुल गांधी ने कहा कि,हमारा एक गतिशील प्रक्रिया है, हम लोगों को सुनते हैं।  नरेंद्र मोदी की तरह नहीं जो सोचते हैं कि उन्हें सब कुछ पता है, प्रतिक्रिया की कोई गुंजाइश नहीं है। यह हमारे और भाजपा के बीच बुनियादी अंतर है| हमें चीन से मुकाबला करना है। हमें स्वीकार करना होगा कि सबसे बड़ी चुनौती चीन में नौकरियों के बाद उत्पादन करने की क्षमता है।

 

 

राहुल गांधी ने कहा कि, चीन में रोजगार सृजन पर स्वचालन का प्रभाव क्यों नहीं है….? जब मैं कैलाश मानसरोवर गया, तो मैंने उनके कुछ मंत्रियों से मुलाकात की जिन्होंने कहा कि रोजगार सृजन कोई समस्या नहीं है। असली मुद्दा यह है कि अगर आप चीजों का उत्पादन कर रहे हैं और प्रौद्योगिकी स्ट्रीम में हैं तो आपको कोई समस्या नहीं है|

 

 

उन्होंने कहा कि , एक राजनेता और इंसान के रूप में मेरे साथ जो सबसे अच्छी बात हुई, वह भाजपा और आरएसएस से मुझे गाली मिली थी, यह सबसे बड़ा उपहार है जो वे मुझे दे सकते हैं। मैं श्री मोदी को देखता हूं जब वह मुझे गाली देते हैं और मुझे ऐसा लगता है कि मैं उन्हें गले लगाता हूं|

 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि, मुझे एहसास है कि वह (पीएम मोदी) मुझसे असहमत हैं और मैं उनसे असहमत होता हूं, और मैं उनसे लड़ूंगा और मैं यह सुनिश्चित करने की कोशिश करूंगा कि वह प्रधानमंत्री नहीं रहें… लेकिन मैं उनसे नफरत नहीं करता। उन्हें उनकी बात रखने का अधिकार है.

 

 

 

 

Author : kapil patel

Share With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

आपके लिए

TRENDING