भाजपा नेता ने की प्रेमिका की हत्या और धोखा देने के लिए हिंदी फिल्म ‘दृश्यम’ की तरह गाड़ दिया कुत्ते का शव

  • 13 January,2019
  • 333 Views
भाजपा नेता ने की प्रेमिका की हत्या और धोखा देने के लिए हिंदी फिल्म ‘दृश्यम’ की तरह गाड़ दिया कुत्ते का शव

नई दिल्ली/इंदौर: इंदौर में 2 साल पहले लापता हुई महिला कांग्रेस कार्यकर्ता की 22 वर्षीय बेटी की हत्या के मामले में बीजेपी नेता जगदीश करोतिया उर्फ कल्लू पहलवान सहित 5 लोग गिरफ्तार| मध्यप्रदेश में इंदौर पुलिस (Indore Police) ने जब दो साल पुराने एक हत्याकांड का खुलासा किया तो सभी चौंक गए| स्थानीय भाजपा नेता (BJP Leader), उसके बेटों और  दोस्त ने अजय देवगन की चर्चित फिल्म ‘दृश्यम’ (Drishyam) देखकर महिला की हत्या की साजिश रच डाली और महिला को मौत के घाट उतार दिया था| पुलिस ने इस मामले में भाजपा नेता और उसके तीन बेटों समेत पांच लोगों को धर दबोचा है|

 

 

DIG इंदौर का कहना है, ‘अभियुक्त ने उल्लेख किया है कि उन्होंने हिंदी फिल्म’ ‘दृश्यम’  ((Drishyam) ) देखी थी और इसका इस्तेमाल अपराध में किया था| DIG ने बताया कि, हमने पूछताछ के लिए ब्रेन इलेक्ट्रिकल ऑसिलेशन सिग्नेचर टेस्ट का इस्तेमाल किया। पुलिस को सूचना मिली थी कि उन्होंने अपराध स्थल के पास कुछ दफनाया है। इस जानकारी को उद्देश्य से लीक किया गया था। पुलिस को मौके पर खुदाई करने पर एक कुत्ते का अवशेष मिला।

 

 

हत्याकांड का खुलासा करते हुए डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्रा (DIG, Harinarayanchari Mishra) ने बताया कि बाणगंगा क्षेत्र में रहने वाली 22 वर्षीय ट्विंकल डागरे (Twinkle Dagre) की हत्या के मामले में 65 वर्षीय भाजपा नेता (Jagdish Karotiya) जगदीश करोतिया उर्फ कल्लू पहलवान (Kallu Pehlwan) , उसके तीन बेटों-अजय, विजय और विनय और उसके साथी नीलेश कश्यप को गिरफ्तार किया गया है|

 

 

DIG ने बताया कि, हमने पूछताछ के लिए ब्रेन इलेक्ट्रिकल ऑसिलेशन सिग्नेचर टेस्ट का इस्तेमाल किया।  DIG ने कहा कि, ‘अभियुक्त ने उल्लेख किया है कि उन्होंने हिंदी फिल्म’ ‘दृश्यम’  ((Drishyam) ) देखी थी और इसका इस्तेमाल अपराध में किया था| पुलिस को सूचना मिली थी कि उन्होंने अपराध स्थल के पास कुछ दफनाया है। इस जानकारी को उद्देश्य से लीक किया गया था। पुलिस को मौके पर खुदाई करने पर एक कुत्ते का अवशेष मिला।

 

 

DIG ने कहा कि, ‘अभियुक्त को नगर निगम कहा जाता है कि जिस जमीन पर उनका मालिकाना हक़ है, उसे दावा है कि उन्हें कुत्ते को दफनाने की ज़रूरत है। उन्होंने पीड़ित के शरीर को जला दिया और पास के सीवेज में फेंक दिया। अपराध के 2-3 दिन बाद, उन्होंने भ्रम पैदा करने के लिए पीड़ित के फोन का स्थान बनाने की कोशिश की|

 

 

DIG ने कहा कि, भियुक्त ने उल्लेख किया कि उन्होंने हिंदी फिल्म ‘‘दृश्यम’ ‘ देखी थी और उसी से प्रेरित होकर एक कुत्ते को दफनाने की अफवाह फैलाई थी। जगदीश करोतिया के पीड़ित के साथ संबंध थे। पीड़ित की बांह पर (tattoed on victim’s arm )उसका नाम अंकित था। इसके चलते आरोपी के घर पर विवाद हुआ और इसलिए उसने उसकी हत्या की योजना बनाई|

 

 

 

 

 

 

Author : kapil patel

Share With

आपके लिए

You may like

Leave A Reply

Follow us on

आपके लिए

TRENDING