बोले पूर्व CM एचडी कुमारस्वामी: राजनीति से संन्यास लेना चाहता हूं, गलती से सीएम बन गया था

  • Line : kapil patel
  • 03 August,2019
  • 39 Views
बोले पूर्व CM एचडी कुमारस्वामी: राजनीति से संन्यास लेना चाहता हूं, गलती से सीएम बन गया था

बेंगलुरु: कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी राजनीति से संन्यास लेना चाहते हैं। पूर्व CM एचडी कुमारस्वामी ने शनिवार को कहा कि मैं राजनीति से दूर जाने की सोच रहा हूं। उनका कहना है कि वे गलती से राजनीति में आ गए, और गलती से सीएम बन गए|

 

 

कुमारस्वामी ने शनिवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि, मैं राजनीति से दूर जाने की सोच रहा हूं। मैं गलती से राजनीति में आ गया। मैं गलती से सीएम बन गया। भगवान ने मुझे दो बार सीएम बनने का मौका दिया। उन्होंने आगे कहा कि, मैं हर किसी को संतुष्ट नहीं कर सकता। 14 महीनों में मैंने राज्य के विकास की दिशा में अच्छा काम किया। मैं संतुष्ट हूं। मैं अपने काम से संतुष्ट हूं।

 

 

 

कुमारस्वामी ने कहा कि, मैं देख रहा हूं कि आज की राजनीति कहां जा रही है। यह अच्छे लोगों के लिए नहीं है, यह जाति के बारे में है। मेरे परिवार में मत लाओ। मेरा हो गया। मुझे चैन से जीने दो। मुझे राजनीति में नहीं रहना है। मैंने सत्ता में रहते हुए अच्छा किया। मुझे लोगों के दिल में जगह चाहिए।

 

 

 

अभी हाल में कर्नाटक की कुमारस्वामी सरकार गिर गई| वहां कांग्रेस और जनता दल सेकुलर (जेडीएस) की गठबंधन सरकार थी. दोनों पार्टी के कई विधायकों ने सरकार से इस्तीफा दे दिया था| इसके बाद सरकार पर संकट के बादल मंडरा गए|  विपक्ष की मांग पर स्पीकर रमेश कुमार ने ट्रस्ट वोट कराया जिसमें कुमारस्वामी बहुमत नहीं दिखा सके| कुमारस्वामी के ट्रस्ट वोट के पक्ष में 99 जबकि विपक्ष में 105 वोट पड़े| बाद में उनकी सरकार गिर गई| हालांकि स्पीकर रमेश कुमार ने इस्तीफा देने वाले सभी बागी विधायकों को अयोग्य करार दिया|

 

 

 

कुमारस्वामी की सरकार गिरने के बाद बीजेपी ने बीएस येदियुरप्पा की अगुआई में वहां सरकार बनाई है|  इस पर कर्नाटक कांग्रेस ने कहा कि बीजेपी की राज्य इकाई के प्रमुख बी.एस. येदियुरप्पा ने खरीद फरोख्त करने के बाद लोकतंत्र को पलटा और सत्ता में आ गए कांग्रेस ने ट्वीट किया, “भ्रष्टाचार के प्रतीक और जेल में रह चुके बी.एस. येदियुरप्पा ने अपनी बेहतरीन खरीद-फरोख्त का इस्तेमाल करते हुए लोकतंत्र को पलटा और सत्ता में आ गए|” कांग्रेस ने आगे कहा, “कर्नाटक की जनता ने 2008-2011 तक मुख्यमंत्री के रूप में उनके विनाशकारी कार्यकाल को देखा है, जिसका अंत येदियुरप्पा के जेल जाने पर हुआ था. इतिहास खुद को दोहराने के लिए तैयार है|

 

 

 

आपके लिए

You may like

Follow us on

आपके लिए

TRENDING