छह दिनों के बाद अन्ना हजारे ने तोड़ा अपना अनशन, भाजपा बोली एक नया विधेयक तैयार करेगें और इसे अगले सत्र में करेंगे पेश

  • Line : kapil patel
  • 05 February,2019
  • 266 Views
छह दिनों के बाद अन्ना हजारे ने तोड़ा अपना अनशन, भाजपा बोली एक नया विधेयक तैयार करेगें और इसे अगले सत्र में करेंगे पेश

महाराष्ट्र: अन्ना हजारे ने अहमदनगर के रालेगण सिद्धि में अपना उपवास समाप्त किया। वह केंद्र में लोकपाल और राज्यों में लोकायुक्तों के गठन के लिए पिछले छह दिनों से उपवास पर थे। सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने अपना अनशन खत्म कर दिया है।महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस आज उनसे मिलने पहुंचे थे। फडणवीस के हाथों जूस पीकर अन्ना ने अनशन खत्म किया

 

अन्ना हजारे ने लगाया आरोप, भाजपा ने 2014 लोकसभा चुनाव जीतने के लिए मेरा किया इस्तेमाल

 

महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फड़नवीस: हमने फैसला किया है कि लोकपाल सर्च कमेटी 13 फरवरी को बैठक करेगी और सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का पालन किया जाएगा। एक संयुक्त मसौदा समिति का गठन किया गया है, यह एक नया विधेयक तैयार करेगी और हम इसे अगले सत्र में पेश करेंगे।

 

 

 

 

 

गौरतलब है कि, पिछले छह दिनों से अनशन पर बैठे सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने सोमवार को भाजपा पर आरोप लगाया था कि 2014 का लोकसभा चुनाव जीतने में उसने उनका इस्तेमाल किया गया था | उन्होंने आरोप लगाया कि उनके 2011 और 2014 के आंदोलन में उनके साथ खड़े होनेवाले लोगों ने उन्हें धोखा दिया और उनकी मांगों पर पिछले 5 सालों में कोई वायदा पूरा नहीं किया गया|

 

अन्ना हजारे ने कहा था कि यह उनका लोकपाल आंदोलन था, जिसने भाजपा और AAP को सत्ता में पहुंचा दिया। कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने सोमवार को कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव जीतने के लिए उनका उपयोग “भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)” द्वारा किया गया था।

 

 

अन्ना हजारे ने कहा , हाँ,  भाजपा ने 2014 में मेरा इस्तेमाल किया था। हर कोई जानता है कि लोकपाल के लिए यह मेरा आंदोलन था जिसने भाजपा और आम आदमी पार्टी (आप) को सत्ता में पहुंचा दिया। अब मैंने उनके लिए सभी संबंध खो दिए हैं, ”हजारे ने अपने रालेगण-सिद्धि गांव में मीडिया को बताया।

 

उन्होंने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार “देश के लोगों को केवल गुमराह कर रही है और देश को निरंकुशता की ओर ले जा रही है” और कहा कि भाजपा की अगुवाई वाली महाराष्ट्र सरकार पिछले चार वर्षों से “झूठ” बोल रही थी।“आखिर कब तक झूठ चलता रहेगा….? इस सरकार ने देश के लोगों को नीचा दिखाया है। राज्य सरकार का दावा है कि मेरी 90 प्रतिशत माँगें भी गलत हैं,

 

 

आपके लिए

You may like

Follow us on

आपके लिए

TRENDING