loading...

मुंबई ब्रिज हादसा: रेड ट्रैफिक सिग्नल कई लोगों के लिए जीवन दाईं बना

  • 15 March,2019
  • 109 Views
मुंबई ब्रिज हादसा: रेड ट्रैफिक सिग्नल कई लोगों के लिए जीवन दाईं बना

मुम्बई:दक्षिण मुंबई में छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (CSMT) रेलवे स्टेशन के पास गुरुवार शाम एक फुट ओवर ब्रिज का बड़ा हिस्सा गिरने से 6 लोगों की जान चली गई और 36 लोग घायल हो गए।

 

गनीमत रही कि फुट ओवर ब्रिज के पास एक ट्रैफिक जंक्शन पर उस समय लाल बत्ती थी, जब यह हादसा हुआ। अगर लाल बत्ती न होती तो पीड़ितों की संख्या बढ़ सकती थी। ऐसे में ग्रीन सिग्नल का इंतजार करने वाले गाड़ी वालों के लिए यह लकी साबित हुआ।

 

सिग्नल पर इंतजार कर रहे एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया, ‘हम काफी बेसब्री से लाल बत्ती के हरा होने का इंतजार कर रहे थे। बत्ती हरी होती उससे पहले ही ब्रिज का हिस्सा लोगों के साथ गिर गया। अगर पहले ही बत्ती हरी हो जाती तो हालात और भी भयावह हो जाते।’

 

उन्होंने ( प्रत्यक्षदर्शी) कहा, ‘उस समय पूरे मुंबई से लोग CSMT के पास से अपने घरों की ओर लौट रहे होते हैं। हम भी जल्द से जल्द घर पहुंचना चाह रहे थे लेकिन अब ऐसा लगता है कि अच्छा हुआ सिग्नल लाल था। अन्यथा, मैं भी घायल हो जाता।’

 

 

गुरुवार शाम करीब 7.30 बजे पुल का एक हिस्सा गिर गया। आपको बता दें कि प्रसिद्ध CSMT स्टेशन के साथ स्थित इस पुल को आम तौर पर ‘कसाब पुल’ के नाम से जाना जाता है क्योंकि 26/11 मुंबई आतंकवादी हमले के दौरान आतंकी इसी पुल से होकर गुजरे थे। यह पुल रेलवे स्टेशन को आजाद मैदान पुलिस स्टेशन से जोड़ता है।

 

 

जब यह हादसा हुआ तो एक टैक्सी ड्राइवर पास ही थे। वह तो बच गए पर उनकी गाड़ी को काफी नुकसान पहुंचा। हादसे के बाद सड़क पर गाड़ियां जहां-तहां रुक गई थीं। आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के अधिकारी ने बताया है कि सभी घायलों को निकटवर्ती अस्पतालों में ले जाया गया है। एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि गुरुवार सुबह पुल पर मरम्मत कार्य चल रहा था, इसके बावजूद इसका इस्तेमाल किया गया।

 

 

महाराष्ट्र सीएम फडणवीस ने कहा कि,  यह दुर्भाग्यपूर्ण है। मैंने उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं। पुल का एक संरचनात्मक ऑडिट पहले किया जा चुका था और इसे ठीक पाया गया था। उसके बाद भी अगर ऐसी कोई घटना हुई है, तो यह ऑडिट पर सवाल उठाता है। पूछताछ की जाएगी। सख्त कार्रवाई की जाएगी| सीएम देवेंद्र फडणवीस ने मृतकों के परिवारों को 5-5 लाख रुपये तथा घायलों को 50-50 हजार रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की|  घायलों के इलाज का खर्च भी राज्‍य सरकार ही वहन करेगी|

 

 

राहुल गाँधी ने ट्वीट कर लिखा -,मुंबई फुटओवर ब्रिज हादसे की ख़बर से मुझे बेहद दुःख हुआ है। मृतकों के परिजनों के प्रति मैं अपनी गहरी शोक और संवेदना व्यक्त करता हूँ। जो घायल हैं उन्हें जल्द से जल्द राहत मिले मेरी ये प्रार्थना है।

 

 

 

पीएम मोदी (PM Modi)  ने कहा कि, ‘मुंबई में फुटओवर ब्रिज हादसे में लोगों की जान जाने से बेहद आहत हूं| मेरी संवेदनाएं शोक संतप्‍त परिवारों के साथ हैं| घायलों के जल्‍द से जल्‍द स्‍वस्‍थ होने की कामना करता हूं|

 

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि, मुंबई में एक फुट ओवरब्रिज के ढहने का गहरा दुख है। मेरे विचार उन परिवारों के साथ हैं जिन्होंने इस दुर्घटना में अपने प्रियजनों को खो दिया। मैं घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना करता हूं|

 

 

मुंबई: शिवसेना सांसद अरविंद सावंत घटना में घायल हुए लोगों से मिलने के लिए सेंट जॉर्ज अस्पताल पहुंचे, जहां आज शाम सीएसएमटी रेलवे स्टेशन के पास एक फुट ओवर ब्रिज का हिस्सा ढह गया था।

 

 

 

जीटी अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. मुकुंद तायडे, ने कहा कि, हमें 2 शव मिले हैं, दोनों इस अस्पताल में नर्स थे। एक और नर्स का शरीर सेंट जॉर्ज अस्पताल में है। 14 घायलों को यहां भर्ती कराया गया है, जिनमें से 1 को न्यूरोसर्जरी के लिए जेजे (JJ) अस्पताल में भेज दिया गया है।

 

 

 

जीटी अस्पताल में घायलों से मिलने के बाद महाराष्ट्र के मंत्री गिरीश महाजन ने कहा कि, यहां पर्याप्त संख्या में डॉक्टर हैं, विशेषज्ञ यहां हैं। ब्लड बैंक में पर्याप्त रक्त उपलब्ध है। जवाबदेही आगे आएगी, हमारी प्राथमिकता पहले घायलों को पूरा करना है।

 

 

 

 

दोषियों के ऊपर सख्त कार्रवाई होगी।

 

 

Author : Ashok Chaudhary
Loading...

Share With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

Loading...

आपके लिए

TRENDING