फारूक अब्दुल्ला बोले-  हमारी हत्या करना चाहती है सरकार, घर में ही हिरासत में रखा गया था, झूठ बोल रहे है अमित शाह

  • Line : kapil patel
  • 06 August,2019
  • 78 Views
फारूक अब्दुल्ला बोले-  हमारी हत्या करना चाहती है सरकार, घर में ही हिरासत में रखा गया था,  झूठ बोल रहे है अमित शाह

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर से स्पेशल राज्य का दर्जा खत्म किए जाने संबंधी जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल को राज्यसभा में पेश किए जाने के एक दिन बाद राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कान्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला पहली बार सामने आए और उन्होंने तल्ख लहजे में कहा कि मेरे घर के दरवाजे बंद कर दिए गए हैं| हमारी हत्या की साजिश रची जा रही है| साथ ही उन्होंने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह संसद में झूठ बोल रहे है|

 

 

 

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने मीडिया से बातचीत के दौरान श्रीनगर में कहा कि, मैं अपने घर के अंदर क्यों रहूंगा जब मेरा राज्य जलाया जाएगा, जब मेरे लोगों को जेलों में बंद किया जा रहा है…? यह वह भारत नहीं है जिस पर मुझे विश्वास है।

 

 

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि, गृह मंत्रालय संसद में झूठ बोल रहा है कि मुझे गिरफ्तार नहीं किया गया है, मैं अपनी मर्जी से अपने घर के अंदर रह रहा हूं.. अब्दुल्ला ने कहा कि, मुझे मेरे घर में ही हिरासत में रखा गया था|

 

फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि, जैसे ही गेट खुलेगा और हमारे लोग बाहर होंगे, हम लड़ेंगे, हम कोर्ट जाएंगे। उन्होंने आगे कहा कि, हम बंदूक चलाने वाले, ग्रेनेड फेंकने वाले, पत्थर फेंकने वाले नहीं हैं, हम शांतिपूर्ण संकल्पों में विश्वास करते हैं। वे हमारी हत्या करना चाहते हैं। मेरा बेटा (उमर अब्दुल्ला) जेल में है| वह काफी तकलीफ में है|

 

 

 

 

 

इस पर लोकसभा में Article-370 Revoked पर चर्चा के दौरान अमित शाह ने कहा कि , पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला न तो हिरासत में हैं और न ही उन्हें गिरफ्तार किया गया है| शाह ने यह टिप्पणी उस वक्त की, जब एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने कहा कि फारूक अब्दुल्ला उनके बराबर में बैठते हैं| वह आज सदन में मौजूद नहीं हैं और उनकी आवाज सुनी नहीं जा रही|

 

 

राकांपा सांसद सुप्रिया सुले ने कहा, “मैं सीट न. 462 पर बैठती हूं। फारूक अब्दुल्ला सीट संख्या 461 पर बैठते हैं। वह जम्मू-कश्मीर से चुने गए हैं। हम उन्हें आज नहीं सुन सकते। अगर आप मुझसे पूछेंगे तो यह बहस अधूरी रह जाएगी। इस पर गृह मंत्री अमित शाह कहते हैं,” फारूक अब्दुल्ला न तो हिरासत में लिया गया और न ही गिरफ्तार किया गया। वह अपने घर पर है, अपनी मर्जी से बाहर आ जा सकते है..

 

 

अमित शाह ने कहा हैं, मैंने इसे तीन बार स्पष्ट किया है। फारूक अब्दुल्ला जी अपने घर पर हैं, वह नजरबंद नहीं हैं, वे गिरफ्तार नहीं हैं। वह अच्छे स्वास्थ्य में है, मौज-मस्ती में हैं, उनको नही आना है तो गन पट्टी पर रख कर बाहर नही ला सकते हम….

 

 

अमित शाह ने कहा, मैं इसे 4 वीं बार कह रहा हूं, और मुझे 10 वीं बार कहने का धैर्य है, फारूक अब्दुल्ला को न तो हिरासत में लिया गया है और न ही गिरफ्तार किया गया है। यदि वह ठीक नहीं है, तो डॉक्टर उसे अस्पताल ले जाएंगे। सदन को चिंता नहीं करनी चाहिए। अगर वह ठीक नहीं होता, तो वह बाहर नहीं आता

 

 

गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल को पेश करते हुए राज्य से अनुच्छेद 370 के तहत मिलने वाले स्पेशल स्टेटस का दर्जा खत्म किए जाने और राज्य को 2 केंद्र शासित प्रदेश के रूप में मान्यता दिए जाने की बात कही| इस बिल को एक दिन पहले ही राज्यसभा से पास कर दिया गया जबकि आज मंगलवार को यह बिल लोकसभा में पेश किया गया|

 

 

 

 

 

आपके लिए

You may like

Follow us on

आपके लिए

TRENDING