कलेक्ट्रेट सभागार में महिला सुरक्षा जागरूकता को लेकर जुलाई/कवच अभियान कार्यशाला संपन्न

  • Author : tvl7
  • 11 July,2019
  • 70 Views
कलेक्ट्रेट सभागार में महिला सुरक्षा जागरूकता को लेकर जुलाई/कवच अभियान कार्यशाला संपन्न

बलरामपुर –  प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं की सुरक्षा को और सुदृढ़ किये जाने हेतु सुरक्षा संबन्धी जागरूकता अभियान हेतु दिशा निर्देश दिया गया है,जनपद बलरामपुर में 1 जुलाई से 31 जुलाई/कवच अभियान चलाया जा रहा है जिसमें जनपद के समस्त स्कूलों में कार्यक्रम का आयोजन कर बालिकाओं को महिला सुरक्षा की जानकारी दी जा रही है।इस अभियान को और प्रभावी बनाने हेतु जनपद स्तर पर कार्यशाला का आयोजन किया गया।कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक देवरंजन वर्मा द्वारा महिलाओं की सुरक्षा हेतु पुलिस विभाग द्वारा उठाये जा रहे कदमों की जानकारी दी।उन्होंने बताया कि महिलाओं की सुरक्ष हेतु पुलिस विभाग द्वारा दो हेल्पलाइन 1090 वूमेन पावन लाइन व यूपी 100 चलाई जा रही है।

 

1090 वूमेन पावर लाइन के बारे में पुलिस अधीक्षक ने बताया कि यदि किसी महिला को किसी व्यक्ति के द्वारा फोन के माध्यम से,सोशल साइटस के माध्यम से छेड़छाड़ या उत्पीड़न किया जा रहा हो, किसी व्यक्ति द्वारा महिला का पीछा किया जा रहा हो,तो तुरन्त 1090 पर काॅल कर शिकायत दर्ज करा सकती है। 1090 पर पीड़िता की काॅल केवल महिला अधिकारी द्वारा ली जायेगी तथा पीड़िता की पहचान गोपनीय रखी जायेगी।पीड़िता को कभी पुलिस स्टेशन नहीं बुलाया जायेगा।पुलिस अधीक्षक ने बताया कि चार प्रकार से जनता व पुलिस के बीच संवाद बढ़ाया जा रहा है,जिसमें बालिका सुरक्षा हेतु जुलाई अभियान के माध्यम से प्रत्येक स्कूलों में कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है जिसमें पुलिस अधिकारियों द्वारा बच्चियों के साथ सीधा संपर्क कर पुलिस के प्रति भय को दूर किया जा रहा है व उनको महिला सुरक्षा के प्रति जागरूक किया जा रहा है,पुलिस विभाग द्वारा प्रत्येक स्कूलों में एक गोपनीय पेटिका लगायी जा रही है जिसमें कोई भी बालिका किसी भी प्रकार की समस्या छेड़खानी आदि के विषय में पत्र लिखकर डाल सकती है,पत्र में पहचान लिखना आवश्यक नहीं है,प्रत्येक सप्ताह महिला कास्टेबल द्वारा पेटिका को खोला जायेगा व संबन्धित थानाध्यक्षों के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी।यूपी 100 की गाड़ियों द्वारा नियमित रूप से बालिकाओं के स्कूल/कालेजों में भ्रमण किया जायेगा और वहां के प्रधानाचार्यो से दिन में चार कुशलता पूछा जायेगा। पुलिस विभाग द्वारा नोन यवोर पुलिस प्रोग्राम के माध्यम से स्कूल के बच्चों का स्थानीय भ्रमण करवाया जा रहा है जिससे कि उनमें थानों के प्रति डर खत्म हो सके।कोई भी महिला/बालिका किसी भी प्रकार की छेड़खानी,हिंसा,अन्याय पर चुप न रहे इसकी शिकायत बिना डरे पुलिस से करें।

 

किसी भी अज्ञात/अन्नोन व्यक्ति को मोबाइल नम्बर न दें।कार्यशाला में मास्टर ट्रेनर संजय राय व अमित पाठक द्वारा विस्तार से उपिस्थत 13 थानों के प्रभारी निरीक्षक, बीएसए,डीआईओएस आदि अधिकारियों को महिला सुरक्षा व जागरूकता से जुड़ी जानकारी प्रदान की गई।मास्टर ट्रेनर ने बताया कि किसी भी महिला को घूरना भी छेड़खानी की श्रेणी में आता है।किसी महिला या बालिका को गलत तरीके से छूना,किसी भी प्रकार का अश्लील मैसेज भेजना आदि कार्य छेड़खानी की श्रेणी में आता है।किसी भी प्रकार के गलत व्यवहार की जानकारी अपने संरक्षक,माता-पिता को जरूर दें। महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया जाना आवश्यक है।

 

कार्यशाला में पुलिस अधीक्षक,एडीएम अरुण कुमार शुक्ल,सचिव विधिक सेवा प्राधिकरण,अपर सीएमओ डॉ० कमाल अशरफ,बीएसए हरिहर प्रसाद, डीआईओएस महेन्द्र कुमार कनौजिया, जिला कार्यक्रम अधिकारी सत्येन्द्र सिंह, संरक्षण अधिकारी कौशलेन्द्र कुमार, प्रदीप कुमार द्विवेदी विधि सह परवीक्षा अधिकारी,करुणेन्द्र कुमार अध्यक्ष बाल कल्याण समिति,समस्त थानों के थानाध्यक्ष व महिला थाना के प्रभारी निरीक्षक महिला सामाख्या व अन्य संबन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।

 

रिपोर्ट:-शैलेन्द्र बाबू

Tag With

आपके लिए

You may like

Follow us on

आपके लिए

TRENDING