दलित, मुसलमान, जाट के बाद ‘ भगवान हनुमान जी’ पर एक और जाति का ठप्पा, अब सपा नेता ने कहा- वह यादव थे

  • Line : kapil patel
  • 23 December,2018
  • 319 Views
दलित, मुसलमान, जाट के बाद ‘ भगवान हनुमान जी’ पर एक और जाति का ठप्पा, अब सपा नेता ने कहा- वह यादव थे

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भगवान हनुमान को दलित क्या बताया, उसके बाद इस मामले पर नेताओं के तरह-तरह के बयान सामने आने लगे| दलित, मुसलमान, जाट’  से होते हुए अब ‘भगवान हनुमान जी’ की एक और जाति का नेताओं ने पता लगा लिया है| BJP नेताओं के बाद अब मिर्जापुर पूर्व सपा जिलाध्यक्ष ने दिया विवादित बयान|

 

 

 

अब पूर्व सपा जिलाध्यक्ष ने ‘हनुमान जी’ को यादव बता दिया| उन्होने कहा क़ि ‘ हनुमान जी’ यादव थे| यह बात उन्होने घंटाघर में आयोजित सपा युवा सम्मेलन के दौरान कही|मंच पर बदायूं सांसद धर्मेंद्र यादव साथ में रहे मौजूद|

 

 

 

 

योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री & पूर्व इंडिया क्रिकेटर चेतन चौहान ने कहा क़ि, हनुमान जी कुश्ती लड़ते थे, खिलाड़ी भी थे, जीतने भी पहलवान लोग हैं उनकी पूजा करते हैं, मैं उनको वही मानता हूँ, हमारे ईष्ट हैं, भगवान की कोई जाती नही होती. मैं उनको जाती मैं नही बाँटना चाहता..

 

 

 

 

 

बता दें कि इससे पहले बुक्कल नवाब ने गुरुवार को ‘भगवान हनुमान जी’ को मुसलमान बताया था|  उनका कहना था कि मुसलमानों के नाम ही रहमान, सुल्तान, इमरान, जीशान, रेहान जैसे होते है और उसी तरह हनुमान नाम भी मुसलमान का है| हिंदुओं में आपको ऐसे नाम नहीं मिलेंगे, सिर्फ हनुमान नाम मिलेगा, इसलिए ‘भगवान हनुमान जी’  मुसलमान थे| बुक्कल नवाब ने कहा, हनुमान जी मुसलमान थे, इसलिए मुसलमानों में जो नाम रखे जाते हैं – रहमान, रमज़ान, फरमान, ज़ीशान, कुर्बान – जितने भी नाम रखे जाते है, वे करीब-करीब उन्हीं पर रखे जाते हैं

 

 

 

 

योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने कहा था कि , हनुमान जी जाट थे, , क्योंकि किसी को भी परेशानी या फिर मुश्किल में पड़ा देखकर जाट किसी को जाने बिना भी बचाने के लिए कूद पड़ता है…

 

 

 

 

बता दें कि इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार के दौरान राजस्थान के अलवर में एक रैली को संबोधित करते हुए   ‘हनुमान जी’ को दलित बताया था| सीएम योगी ने कहा था कि, हनुमान जी दलित और वंचित हैं, ‘बजरंगबली एक ऐसे लोक देवता हैं, जो स्वंय वनवासी हैं, निर्वासी हैं, दलित हैं, वंचित हैं. भारतीय समुदाय को उत्तर से लेकर दक्षिण तक पुरब से पश्चिम तक सबको जोड़ने का काम बजरंगबली करते हैं

 

 

 

 

 

 

 

 

 

आपके लिए

You may like

Follow us on

आपके लिए

TRENDING