loading...

खराब ट्रैफिक व्यवस्था के चलते मुख्यमंत्री योगी का बड़ा फ़ैसला, एडीजी ट्रैफिक को हटाने के दिए निर्देश

  • 19 November,2018
  • 185 Views
खराब ट्रैफिक व्यवस्था के चलते मुख्यमंत्री योगी का बड़ा फ़ैसला, एडीजी ट्रैफिक को हटाने के दिए निर्देश

लखनऊ: प्रदेश में ट्रैफिक की खराब व्यवस्था से ख़ासा नाराज चल रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एडीजी ट्रैफिक एमके बशाल को हटाने का आदेश दिया हैं साथ ही साथ मुख्यमंत्री ने अवैध वसूली की शिकायत के बाद से गोरखपुर के सीओ ट्रैफिक संतोष सिंह को हटाते हुए कंपल्सरी रिटायरमेंट की कार्रवाई के निर्देश भी दिए है। रविवार को करीब साढ़े तीन घंटो तक चली वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कई जिलों के अधिकारियों से काफी कड़े लहजे में बात की और कहा कि वह प्रदेश मे क्या कर रहे हैं, इसकी जानकारी उन तक है, सब सुधर जाएं नहीं तो हम सुधार देंगे। उन्होंने गाजियाबाद, नोएडा, सीतापुर, जौनपुर, इलाहाबाद, अंबेडकरनगर, रामपुर, बरेली, बुलंदशहर में हुई अपराध की घटनाओं के बारे में संबंधित पुलिस कप्तानों से विस्तार से जाना और अपराध पर नियंत्रण के कड़े निर्देश दिए।

 

 

 

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का मुख्य तौर से फोकस ट्रैफिक व्यवस्था और प्रदेश में होने वाली अपराध की घटनाओं पर था। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के सभी थानों पर ऐसे पुलिस कर्मियों को तैनात किया जाए जो मानसिक और शारीरिक रूप से फिट हों। शरीर से भारी-भरकम इंस्पेक्टर को थाने की जिम्मेदारी न सौंपी जाए। अपराध की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री योगी ने एक दर्जन से अधिक जिलों के थाना प्रभारियो से सीधे तौर पर सवाल किए।योगी ने कहा कि घटनाओं का खुलासा होता है वो तो ठीक है, परंतु घटनाएं हो ही न, इसके लिए कुछ नहीं किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर अपराधी घटना को अंजाम देकर भाग रहा है तो उसे पकड़ने के लिए आप लोग फौरन कोशिश क्यो नहीं करते। जनपदों में लूट और बड़े-बड़े अपराधो को अंजाम दिया जा रहा हैं।

 

 

 

उन्होंने सवाल किया कि आखिर पुलिस द्वारा पेट्रोलिंग क्यों नहीं हो पा रही है? मुख्यमंत्री ने कप्तानों को निर्देश देते हुए कहा कि वह जिलों को कैंप कार्यालय से नहीं बल्कि मूल कार्यालय से चलाएं। कहा कि लोगों को जिलों में न्याय नहीं मिलता इसलिए उन्हें लखनऊ आना पड़ता है। योगी ने कहा की सभी अफसर लोगों से मिलने के लिए 9 से 11 बजे हर हाल में दफ्तर में बैठें। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 25 नवंबर को अयोध्या में होने वाली धर्मसभा को लेकर अफसरो को निर्देश दिया कि विवादित स्थल तक जाने की अनुमति किसी को भी न दी जाए। अयोध्या के अधिकारियों को निर्देश दिए कि आयोजकों से विस्तृत बात करके ट्रैफिक, पार्किंग और अन्य व्यवस्थाओं को सुनिश्चित करें। इस मौके पर मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय के अलावा प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार, डीजीपी ओम प्रकाश सिंह, एडीजी कानून-व्यवस्था आनंद कुमार समेत कई बड़े-बड़े अफसर यहाँ मौजूद थे।

 

 

Author : Ankit Gupta
Loading...

Share With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

Loading...

आपके लिए

TRENDING