आलोक वर्मा ने कहा- झूठे, निराधार और फर्जी आरोपों के आधार पर किया गया तबादला

  • 11 January,2019
  • 214 Views
आलोक वर्मा ने कहा-  झूठे, निराधार और फर्जी आरोपों के आधार पर किया गया तबादला

नई दिल्ली: केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) में चल रहा विवाद एक बार फिर उफान पर है| 24 घंटे के भीतर ही आलोक वर्मा की सीबीआई निदेशक पद से छुट्टी हो गई|  जिसके बाद उन्होंने अपनी सफाई में कहा कि उनका तबादला उनके विरोध में रहने वाले एक व्यक्ति की ओर से लगाए गए झूठे, निराधार और फर्जी आरोपों के आधार पर किया गया है| गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली उच्चस्तरीय चयन समिति ने भ्रष्टाचार और कर्तव्य में लापरवाही बरतने के आरोप में गुरुवार को वर्मा को पद से हटा दिया था|

 

इस मामले में चुप्पी तोड़ते हुए आलोक वर्मा ने कहा कि भ्रष्टाचार के हाई-प्रोफाइल मामलों की जांच करने वाली महत्वपूर्ण एजेंसी होने के नाते CBI की स्वतंत्रता को सुरक्षित और संरक्षित रखना चाहिए| उन्होंने कहा कि, ‘‘इसे बाहरी दबावों के बगैर काम करना चाहिए, मैंने एजेंसी की ईमानदारी को बनाए रखने की कोशिश की है जबकि उसे बर्बाद करने की कोशिश की जा रही थी|

 

 

CBI चीफ पद से हटाए गए वर्मा ने ‘‘अपने विरोधी एक व्यक्ति द्वारा लगाए गए झूठे, निराधार और फर्जी आरोपों’’ के आधार पर समिति द्वारा तबादले का आदेश जारी किए जाने को दुखद बताया| गौरतलब है कि सरकार की ओर से जारी आदेश के अनुसार, 1979 बैच के IPS अधिकारी को गृह मंत्रालय के तहत अग्निशमन विभाग, नागरिक सुरक्षा और होम गार्ड्स का निदेशक नियुक्त किया गया है|  CBI निदेशक का प्रभार फिलहाल अतिरिक्त निदेशक एम. नागेश्वर राव के पास है|

 

 

पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी का कहना है, “मुझे नहीं लगता, आलोक वर्मा के बयान सही इरादे से दिए गए हैं|  यदि प्रधानमंत्री और एक वरिष्ठ सुप्रीम कोर्ट जज ने CVC की रिपोर्ट को देखकर कोई फैसला दिया है, तो वर्मा की ओर से यह कहना उचित नहीं है कि निर्णय बुरा है… सरकार को इसे पहले ही निपटा देना चाहिए था| इससे एजेंसी और CBI का नाम खराब हुआ|

 

 

आलोक वर्मा को हटाने वाले फैसले पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला|उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को आजकल नींद नहीं आ रही है|

 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि , डर अब श्री मोदी के दिमाग में व्याप्त है। वह सो नहीं सकता उन्होंने भारतीय वायुसेना से 30,000 करोड़ चुराए और अनिल अंबानी को दिए। सीबीआई चीफ AlokVerma को लगातार दो बार बर्खास्त करने से साफ पता चलता है कि वह अब अपने ही झूठ का कैदी है।

 

 

 

 

Author : kapil patel

Share With

आपके लिए

You may like

Leave A Reply

Follow us on

आपके लिए

TRENDING