loading...

छत्तीसगढ़: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दिए निर्देश, टाटा इस्पात संयंत्र अधिग्रहित जमीन किसानों को होगी वापस

  • 25 December,2018
  • 219 Views
छत्तीसगढ़: मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने दिए निर्देश, टाटा इस्पात संयंत्र अधिग्रहित जमीन किसानों को होगी वापस

रायपुर: कर्जमाफी के वादे को पूरा करने के बाद छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने घोषणापत्र में किए अपने एक अन्य वादे को पूरा करने की शुरुआत कर दी है| छत्तीसगढ़ में टाटा इस्पात संयंत्र के लिए आदिवासी बहुल बस्तर जिले के लोहांडीगुड़ा क्षेत्र में जिन किसानों की भूमि अधिग्रहित की गई थी, उन्हें उनकी जमीन जल्द वापस की जाएगी| मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किसानों से किए गए अपने वादे का उल्लेख करते हुए अधिकारियों को इसके लिए जरूरी प्रक्रिया जल्द पूर्ण करने और मंत्री परिषद की आगामी बैठक में प्रस्ताव लाने के निर्देश दिए हैं| इसके तहत 10 गांवों के 1707 किसानों की जमीन वापस होगी|

 

 

 

 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि, टाटा इस्पात संयंत्र के लिए बस्तर जिले के लोहांडीगुड़ा क्षेत्र में जिन किसानों की भूमि अधिग्रहित की गई थी, उन्हें उनकी जमीन वापस दिलाने की अधिकारियों को जरूरी प्रक्रिया पूर्ण करने और मंत्री परिषद की आगामी बैठक में प्रस्ताव लाने के निर्देश दिए हैं।

 

 

 

 

 

मालूम हो कि आदिवासी बहुल बस्तर जिले के लोहांडीगुड़ा क्षेत्र में टाटा इस्पात संयंत्र के लिए किसानों की जमीन अधिग्रहित की गयी थी|विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने जनघोषणा पत्र में प्रदेश के किसानों से यह वादा किया गया है कि औद्योगिक उपयोग के लिए अधिग्रहित कृषि भूमि, जिसके अधिग्रहण की तारीख से 5 वर्ष के भीतर उस पर कोई परियोजना स्थापित नहीं की गई है, वह किसानों को वापस की जाएगी|

 

 

टाटा संयंत्र के लिए यह फरवरी 2008 और दिसम्बर 2008 में अधिग्रहित की गई थी|संयंत्र के लिए जिन गांवों में भूमि अधिग्रहण किया गया था, उनमें तहसील लोहांडीगुड़ा के अंतर्गत ग्राम छिंदगांव, ग्राम कुम्हली, छिंदगांव, बेलियापाल, बडांजी, दाबपाल, बड़ेपरोदा, बेलर और सिरिसगुड़ा में तथा तहसील तोकापाल के अंतर्गत ग्राम टाकरागुड़ा शामिल हैं| इस पर संबंधित कम्पनी द्वारा अब कोई उद्योग स्थापित नहीं किया गया है

 

 

 

Author : kapil patel
Loading...

Share With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

Loading...

आपके लिए

TRENDING