loading...

पीएम मोदी ने नाभिकीय त्रिकोण के पूरा होने पर “INS अरिहंत” के अधिकारियों और कर्मियों से की मुलाकात

  • 05 November,2018
  • 74 Views
पीएम मोदी ने नाभिकीय त्रिकोण के पूरा होने पर “INS अरिहंत” के अधिकारियों और कर्मियों से की मुलाकात

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ट्वीट कर धनतेरस के पावन अवसर पर सभी देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं। भगवान धन्वंतरि हम सबको जीवन में सुख, समृद्धि एवं उत्तम स्वास्थ्य प्रदान करें। PM मोदी ने आज भारत के स्ट्रेटजिक स्ट्राईक न्युकिल्यर सबमेरिन (एसएसबीएन) यानि नाभिकीय पनडुब्बी आईएनएस अरिहंत के अधिकारियों और कर्मियों से मुलाकात की।

 

 

 

पीएम मोदी ने कहा कि, भारत का गौरव, परमाणु पनडुब्बी आईएनएस अरिहंत ने सफलतापूर्वक अपना पहला डिटरेंट पैट्रोल (निवारक गश्त) पूरा कर एक नया कीर्तिमान स्थापित कर दिया है और इस तरह से दुश्मन देशों से मुकाबला करने के लिए भारत को और भी ताकतवर बना दिया है| मैं इस उपलब्धि के लिए शामिल सभी लोगों, विशेष रूप से आईएनएस अरिहंत (INS Arihant) के दल को बधाई देता हूं, जिसे हमेशा हमारे इतिहास में याद किया जाएगा। आईएनएस अरिहंत(INS Arihant) की सफलता भारत की सुरक्षा आवश्यकताओं को बढ़ाती है।

 

 

मोदी ने कहा कि, यह हमारे पूरे देश के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। इसके नाम से सच है, आईएनएस अरिहंत 130 करोड़ भारतीयों को बाहरी खतरों से बचाएंगे और इस क्षेत्र में शांति के माहौल में योगदान देंगे। इस तरह के एक युग में, एक विश्वसनीय परमाणु प्रतिरोध घंटे की आवश्यकता है।

 

PM मोदी ने कहा किआईएनएस अरिहंत की सफलता उन लोगों को उचित प्रतिक्रिया देती है जो परमाणु हथियारों के बूते ब्लैकमेल की फिराक में रहते हैं| आईएएएस अरिहंत की सफलता राष्ट्रीय सुरक्षा की दिशा में एक बड़ा कदम है. देश के दुश्मनों के लिए, यह एक खुला चैलेंज है| आज ऐतिहासिक है क्योंकि यह परमाणु त्रिकोण की सफल स्थापना को पूरा करने का प्रतीक है। भारत के नाभिकीय त्रिकोण(जल, थल और वायु ) वैश्विक शांति और स्थिरता का एक महत्वपूर्ण स्तंभ होगा। भारत शांति की भूमि है। एकता के मूल्य हमारी संस्कृति में निहित हैं।

 

शांति हमारी ताकत है, न कि हमारी कमजोरी। विश्व पर शांति और स्थिरता के लिए भारत के प्रयासों के संबंध में हमारा परमाणु कार्यक्रम देखा जाना चाहिए। बता दें कि भारत, अमेरिका, फ्रांस, रूस, ब्रिटेन और चीन के बाद छठा ऐसा देश हो गया है जिसने अपनी परमाणु पनडुब्बी बनाने में कामयाबी हासिल की है. छह हजार टन वजनी अरिहंत में 750 किलोमीटर से लेकर 3500 किलोमीटर तक की मारक क्षमता वाली मिसाइलें हैं. इससे पानी के अंदर और पानी की सतह से परमाणु मिसाइल दागी जा सकती है. यही नहीं, पानी के अंदर से किसी विमान को भी निशाना बनाया जा सकता है.

 

 

इस अवसर PM मोदी ने कहा, धनतेरस के शुभ अवसर पर ‘एक भारत-श्रेष्ठ भारत’ के निर्माण के लिए नमो ऐप के माध्यम से डोनेट कर भाजपा को सशक्त बनाएं और न्यू इंडिया के सपने को साकार करने में अपना योगदान दें। नमो ऐप डाउनलोड करने के लिए 18002090920 पर मिस्ड कॉल दें| तिनका-तिनका जोड़ कर ही पंछी अपना घर बनाते हैं, ‘न्यू इंडिया’ के संकल्प को सिद्ध करने के लिए भारतीय जनता पार्टी को नमो ऐप के माध्यम से 5 रुपये से लेकर 1,000 रुपये तक डोनेशन दें।

 

 

Author : kapil patel
Loading...

Share With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

आपके लिए

TRENDING