loading...

JNU मामले में CPI नेता ने कहा, सरकार देशद्रोह के आरोप नहीं लगा सकती है, हम कोर्ट में केस लड़ेंगे

  • 14 January,2019
  • 55 Views
JNU मामले में CPI नेता ने कहा, सरकार देशद्रोह के आरोप नहीं लगा सकती है, हम कोर्ट में केस लड़ेंगे

नई दिल्ली:  जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) मामले में दिल्ली पुलिस ने आज यानी सोमवार को चार्जशीट दाखिल की है| 2016 जेएनयू देशद्रोह मामले में 124A, 323, 465, 471,143, 149, 147, 120B सहित भारतीय दंड संहिता (IPC) की विभिन्न धाराओं के तहत पुलिस ने पटियाला हाउस कोर्ट में 1200 पन्नों की चार्जशीट दाखिल की गई है।

JNU मामले में चार्जशीट दायर, कन्हैया कुमार, उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य समेत 46 लोगों के नाम शामिल

चार्जशीट दायर होने के बाद CPI नेता डी राजा ने कहा कि, 3 साल बाद दिल्ली पुलिस ने चार्जशीट दाखिल की है और कुछ छात्रों के खिलाफ देशद्रोह का आरोप जिसमें ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (AISF) के नेता कन्हैया कुमार और कुछ अन्य छात्र शामिल हैं जो हमारे छात्र संगठन से संबंधित हैं|

उन्होने कहा है कि, उस समय भी हमने कहा था कि ये राजनीतिक रूप से प्रेरित आरोप हैं और कोई भी AISF पर राष्ट्र के खिलाफ किसी भी गतिविधि के लिए आरोप नहीं लगा सकता है। यह साबित करने के लिए कुछ भी नहीं है, हमारे छात्र इस तरह की गतिविधियों में लिप्त नहीं हो सकते हैं और सरकार उन पर देशद्रोह के आरोप नहीं लगा सकती है। हम अदालत में केस लड़ेंगे।

बता दें कि, जेएनयू देशद्रोह मामले में दायर आरोप पत्र में नामजद कन्हैया कुमार उमर खालिद, अनिर्बान भट्टाचार्य, आकिब हुसैन, मुजीब हुसैन, मुनीब हुसैन, उमर गुल, रईया रसूल, बशीर भट, बशरत, आदि शामिल हैं।

कन्हैया कुमार, उमर खालिद, अनिर्बान भट्टाचार्य और अन्य के साथ जेएनयू देशद्रोह मामले में दायर आरोपपत्र में शहला रशीद  (Shehla Rashid ) और सीपीआई नेता ( CPI)  डी. राजा की बेटी अपराजिता राजा (Aparajita Raja) का भी नाम लिया गया है। जेएनयू देशद्रोह मामले में पटियाला हाउस कोर्ट कल मंगलवार को पुलिस द्वारा दायर चार्जशीट पर विचार करेगी।

2016 जेएनयू देशद्रोह मामले पर दिल्ली पुलिस का बयान: आरोप पत्र दायर मुकदमे को शुरू करने का अनुरोध करते हुए 10 व्यक्तियों के नाम अदालत में भेजे गए हैं। 36 व्यक्तियों के नाम उन व्यक्तियों की सूची में डाल दिए गए हैं, जिनके खिलाफ मुकदमे की सुनवाई शुरू करने के लिए अब तक पर्याप्त सबूत फाइल पर नहीं आए हैं।

Author : kapil patel
Loading...

Share With

Tag With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

Loading...

आपके लिए

TRENDING