loading...

पूर्व प्रधान मंत्री एचडी देवेगौड़ा किसानों से मिलने रामलीला मैदान पहुचे,कहा-प्रधान मंत्री को व्यक्तिगत रूप से इस पर ध्यान देना चाहिए

  • 29 November,2018
  • 51 Views
पूर्व प्रधान मंत्री एचडी देवेगौड़ा किसानों से मिलने रामलीला मैदान पहुचे,कहा-प्रधान मंत्री को व्यक्तिगत रूप से इस पर ध्यान देना चाहिए

नई दिल्ली:  अपनी मांगों को लेकर विभिन्न राज्यों के किसान एक बार फिर दिल्ली पहुंचने शुरू हो गए हैं| देश भर से किसान अपनी मांगों को लेकर दो दिन के विरोध प्रदर्शन में भाग लेने के लिए दिल्ली में इकट्ठे हो गए हैं,जिसमें ऋण राहत और फसलों के लिए बेहतर एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) शामिल है |उनकी पहली मांग है कि उन्हें कर्ज से पूरी तरह मुक्ति दी जाए और दूसरी अपनी दूसरी मांग में फसलों की लागत का डेढ़ गुना मुआवजा चाहते हैं|

 

 

 

पूर्व प्रधान मंत्री और जेडीएस नेता एचडी देवेगौड़ा किसानों से मिलने दिल्ली के रामलीला मैदान पहुचे| रामलीला मैदान में किसानों के प्रदर्शन में पूर्व प्रधान मंत्री एचडी देवेगौड़ा ने कहा कि, प्रधान मंत्री को व्यक्तिगत रूप से इस पर ध्यान देना चाहिए। मैं समस्या को हल करने की कोशिश करने के लिए केंद्र सरकार से अपील करना चाहता हूं। किसान अब जागृत हो गए हैं। वे जानते हैं कि दंड कैसे करें। किसानों के बिना कोई सरकार जीवित नहीं रह सकती है।

पूर्व प्रधानमंत्री एच. डी. देवेगौड़ा ने कहा कि, कोई भी सरकार किसानों के समर्थन के बिना नहीं टिक सकती है. हजारों की संख्या में किसान देश के कोने-कोन से चलकर राजधानी दिल्ली के रामलीला मैदान पहुंचे हैं ताकि सरकार के सामने अपने हक की मांग रख सकें. किसानों को संबोधित करते हुए गौड़ा ने कहा कि वह उनके दुख और दिक्कतों को समझते हैं क्योंकि वह खुद किसान के बेटे हैं.उन्होंने कहा, ‘मैं आपको आश्वासन देने आया हूं कि संघर्ष की इस घड़ी में हम आपके साथ हैं. मैं आपके दुख और तकलीफों को समझता

 

 

 

 

 

 

 

गायक जसबीर जस्सी रामलीला मैदान में किसानों साथ

 

 

देश भर से हजारों किसान अपनी कई मांगों को लेकर दबाव बनाने को दो दिन के प्रदर्शन के लिए बृहस्पतिवार को राष्ट्रीय राजधानी में जुटने शुरू हो गए हैं। किसानों का एक दल तो रामलीला मैदान के काफी करीब पहुंच गया है। धीरे-धीरे अन्य दल भी यहां पहुंचने लगेंगे।

 

 

Delhi: farmers’ protest from Sarai Kale Khan area

 

 

 

 

 

Delhi: Farmers who gathered at Bijwasan, on their way to Ramlila Maidan.

 

 

 

 

 

स्वराज इंडिया के संयोजक और अखिल भारतीय किसान संघर्ष समिति के सदस्य योगेंद्र यादव ने कहा कि, सरकार किसान की बात सुनेगी नहीं, किसान अपनी बात कह नहीं सकता. आखिर किसान के नाम से ही सरकार क्यों घबरा जाती है? क्या अब देश का किसान अपनी राजधानी भी नहीं आ सकता| देश के किसानों में अधिकतर महिला किसान हैं, जो अपने अधिकारों से वंचित हैं. नारी के सहभाग बिना हर बदलाव अधूरा है|

 

 

 

 

 

 

किसान नेताओं ने बताया कि आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और अन्य राज्यों के किसान तीन बड़े रेलवे स्टेशनों आनंद विहार, निजामुद्दीन तथा सब्जीमंडी के बिजवासन से आ रहे हैं और राष्ट्रीय राजधानी में चार अलग मार्गों पर मार्च करेंगे।

 

 

 

 

 

Author : kapil patel
Loading...

Share With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

Loading...

आपके लिए

TRENDING