loading...

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने करतारपुर कॉरिडोर का किया शिलान्यास, नवजोत सिंह सिद्धू भी मौजूद

  • 28 November,2018
  • 65 Views
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने करतारपुर कॉरिडोर का किया शिलान्यास, नवजोत सिंह सिद्धू  भी मौजूद

भारत/ पाकिस्तान: भारत के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बुधवार को अपनी सीमा के करीब स्थित सिखों के पवित्र धार्मिक स्थल करतारपुर कॉरिडोर का शिलान्यास किया। इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू भी वहां पहुंचे हुए हैं। इसके बाद केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और हरसिमरत कौर बादल अटारी-वाघा बॉर्डर से इस कार्यक्रम में शामिल होने पाकिस्तान पहुंचे।

 

 

पाकिस्तानी प्रधान मंत्री इमरान खान, पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कामर जावेद बाजवा, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल, हरदीप सिंह पुरी और नवजोत सिंह सिद्धू,  सिखों के पवित्र धार्मिक स्थल करतारपुर कॉरिडोर का शिलान्यास के अवसर पर मौजूद|

 

शिलान्यास के बाद नवजोत सिंह काफी जोश में नजर आए| पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान की प्रशंसा में नवजोत सिंह सिद्धू ने  इस मौके पर कहा कि, हंस और बगुला सरोवर में एक साथ रहते हैं लेकिन हंस मोती ढूंढता है लेकिन बगुला मछली। वह बोले सब कुछ सोच पर निर्भर करता है।

 उन्होंने कहा कि, दोनों सरकारों को यह महसूस करना चाहिए कि हमें आगे बढ़ना है। मेरे पिता ने मुझे यह बताया था कि पंजाब मेल लाहौर तक चलती थी, मेरा मानना ​​है कि यह अफगानिस्तान तक जानी चाहिए, पेशावर तक जानी चाहिए|

 

 

Video…

 पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि, आज मैंने जो खुशी देखी, वह उन मुस्लिमों की तरह थी जो सीमा के दूसरी तरफ मदीना से 4 किमी दूर खड़े थे, लेकिन वे इसे देखने में असमर्थ हैं, लेकिन जब उन्हें मिलने का मौका मिलता है, तो उन्हें जो खुशी मिलती है वह वह खुशी है जो वे पसंद कर रहे हैं आज।

 

 

इमरान खान ने कहा कि, हमारे बीच एकमात्र मुद्दा कश्मीर है, इस मुद्दे को हल करने के लिए इसकी जरूरत केवल दो सक्षम नेतृत्व है। बस हमारे संबंध मजबूत होने पर हमारे पास संभावित क्षमता की कल्पना करें। खान ने कहा कि भारत-पाकिस्तान दोनों तरफ से गलतियां हुईं हैं| जब फ्रांस और जर्मनी साथ हैं फिर हम क्यों नहीं? उन्होंने कहा कि क्या हम अपना एक मसला हल नहीं कर सकते? कोई ऐसी चीज नहीं जो हल नहीं हो सकती. इरादे बड़े होने चाहिए, ख्वाब बड़े होने चाहिए|

 इमरान खान ने कहा कि, उन्होंने कहा कि, मैंने सुना कि सिद्धू की बहुत आलोचना थी जब वह मेरे शपथ ग्रहण समारोह के बाद वापस चले गये थे। मुझे नहीं पता कि उसकी आलोचना क्यों की गई थी। वह सिर्फ शांति और भाईचारे के बारे में बात कर रहा था। वह यहां पाकिस्तान के पंजाब में चुनाव लड़ सकते हैं और, वह जीतेंगे। उन्होंने कहा कि, मुझे आशा है कि हमें सिद्धू को हमारे राष्ट्रों के लिए हमेशा के लिए दोस्ती के लिए भारतीय प्रधान मंत्री बनने की प्रतीक्षा नहीं करनी पड़ेगी।

 

 

 

 

 

यूनियन मिन हरसिमरत कौर बादल: जब बर्लिन की दीवार को नीचे लाया जा सकता है, तो भारत और पाकिस्तान के बीच घृणा को # करतरपुर कॉरिडोर खोलने के साथ भी लाया जा सकता है। यह बाबा नानक के नाम पर एक नई शुरुआत हो सकती है, जिन्होंने कहा, ‘ना कोई हिंदू ना कोई मुसलमान लेकिन एक ओंकार’.

 

 

 

 

 

 

 

 

करतारपुर कॉरिडोर की आधारिशला के मद्देनजर विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने कहा कि भारत कब से इसकी मांग कर रहा था और अब जाकर पाकिस्‍तान ने सकारात्‍मक रुख दिखाया है. इसका मतलब यह नहीं है कि द्विपक्षीय वार्ता शुरू हो जाएगी क्‍योंकि आतंकवाद और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकते|

 

 

 

 

अटारी-वाघा: केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी और हरसिमरत कौर बादल करतारपुर कॉरिडोर समारोह में भाग लेने के लिए पाकिस्तान गए

 

 

 

 

केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने कहा कि मैं इस यात्रा का हिस्सा बनकर सुखद महसूस कर रहा हूं। सालों बाद आज में करतारपुर साहिब के दर्शन करुंगा और इसके लिए मैं दोनों देशों का आभारी हूं। यह सिख समुदाय की एक लंबी मांग थी।

 

 

 

Author : kapil patel
Loading...

Share With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

Loading...

आपके लिए

TRENDING