loading...

आज का सुविचार

  • 08 February,2019
  • 102 Views
आज का सुविचार

हर आदमी अपनी ज़िन्दगी में हीरो हैं
बस कुछ लोगो की फिल्मे रिलीज़ नहीं होती

 

दुनिया का सबसे खूबसूरत पौधा विश्वास का होता है,
जो जमीन पर नही दिलों मे ऊगता है.

 

उन लोगों की उम्मीदों को कभी न टूटने दे जिनकी
आखिरी उम्मीद आप ही है.

 

वो शख़्स जो झुक कर आपसे मिला होगा,
यक़ीनन उसका क़द आपसे बड़ा होगा।

 

भगवान के भरोसे मत बैठिये क्या पता भगवान आपके भरोसे बैठा हो…

 

सच्चाई के आईने काले हो गये,
बुजदिलों के घर मेँ उजाले हो गए।

झूठ बाजार मेँ बेखौफ बिकता रहा,
मैंने सच कहा तो जान के लाले हो गए!

 

हर कोई रखता है ख़बर ग़ैरों के गुनाहों की
अजब फितरत हैं कोई आइना नहीं रखता।

 

जिन्दगी में कभी किसी बुरे दिन से रूबरू हो जाओ तो!!
इतना होंसला जरुर रखना कि दिन बुरा था जिन्दगी नहीं

 

तालीमें नही दी जाती परिंदों को वो खुद ही तय करते है ऊंचाई आसमानों की
जो रखते है होंसला आसमान छुने का वो परवाह नही करते जमीन पे गिर जाने की।

 

बुलंद हो होंसला तो मुठी में हर मुकाम हे,
मुश्किले और मुसीबते तो ज़िंदगी में आम हे

 

” डर में जियेंगे तो कभी खुश नहीं रह सकते, जिन्दगी को जी नहीं सकते सिर्फ काट सकते हैं “

 

हमारे मुल्क में ईमानदारी
फुटबाल की तरह है !
पसंद सभी करते हैं,,,,
पर खेलता कोई कोई ही है !!

 

जिंदगी में सबसे ज्यादा दर्द
‘दिल’ टूटने पर नहीं,
‘यकीन’ टूटने पर होता है..!

 

एक सपने के टूटकर चकनाचूर हो जाने के बाद,
दूसरा सपना देखने के हौसले को ‘ज़िंदगी’ कहते हैं.!!!

 

हमारे जीवन का अंत उसी समय शुरू हो जाता है
जब हम उन विषयों पर चुप्पी साध लेते हैं जो मायने रखते हैं.

 

अच्छे समय से ज्यादा, अच्छे इंसान के साथ रिश्ता रखो.
अच्छा इंसान अच्छा समय ला सकता है, लेकिन अच्छा समय अच्छा इंसान नहीं ला सकता

 

शेर चाहे किसी भी नस्ल का हो …
कुत्तों पर हमेशा भारी पड़ता है…

 

यहाँ सब खामोश है कोई आवाज़ नहीं करता….
सच बोलकर कोई किसी को नाराज़ नहीं करता….

 

ना किसी के आभाव में जियो,
ना किसी के प्रभाव में जियो,
ये जिंदगी आपकी है,
बस इसे अपने मस्त स्वाभाव में जियो.

 

 

 

बंधुओं अगर आप सफलता प्राप्त करना चाहते हैं तो सिर्फ और सिर्फ सफल लोगों से दोस्ती कीजिये। असफल लोग चाहे कितना भी योग्य क्यों न हो आपके सफलता में बाधक ही होंगे। इसलिए जहॉं तक संभव हो असफल लोगों से दूर रहे। आप अपनी असफलताओं का कारण आप स्वयं ढूॅंढ़ सकते हैं, दूसरा नहीं बता सकता है। अगर आप असफलता का कारण ढूॅंढ़ लिये हैं तो उसका निदान या तो आप स्वयं कर सकते हैं या कोई आपके क्षेत्र के सफल व्यक्ति। असफल व्यक्ति आपको नकारात्मक बातें ही बतायेंगे। असफल व्यक्ति के संपर्क में लगातार रहने से आपके भी सोच नकारात्म हो जायेगी। जिसका परिणाम असफलता के अलावा कुछ भी नहीं हो सकता है।

 

 

रोगों के बारे में अध्ययन कर स्वास्थ्य की परिकल्पना नहीं की जा सकती। गरीबी का अध्ययन कर अमीर नहीं बना जा सकता है। इसी वजह से आयुर्विज्ञान के विकास के वावजूद भी संसारभर में तरह—तरह के रोग मौजूद हैं। और रोज नये—नये रोग उत्पन्न हो रहा है। एक से एक अर्थशास्त्री होने के बावजूद भी गरीबी आज भी दुनियाभर में कायम है। ठीक इसी तरह हम असफलता के बारे में गंभीर विचार—विमर्श, चिंतन—मनन करने से असफलता ही हाथ लगेगी, सफलता नहीं।

 

 

अगर आपको अमीर पसंद नहीं हैं तो आप अमीर कभी नहीं बन सकते है। अगर आपको अमीर बनना है तो अमीर और अमीरी दोनों से प्रेम करना होगा। ज्यादातर लोग अमीर बनना तो चाहते हैं पर जाने—अंजाने में वे गरीबों की बड़ाई और अमीरों की बुराई में लगे रहते हैं। फलत: वे जीवने में कभी अमीर नहीं बन पाते हैं और बाद में अपने भाग्य को कोसते हैं। इसे विधि का विधान मानते हैं। उन्हें ऐसा लगात है कि उनके भाग्य में अमीर बनना नहीं लिखा था। प्रयास और परिश्रम तो उसने पूरा किया था।

 

 

महामारी और छूत की बिमारी से सभी अवगत हैं । असल में महामारी या संक्रामक रोग नहीं भी हो फिर भी बिमारों के बीच एकम स्वस्थ व्यक्ति भी लंबे समय ते रहे तो वे भी अस्वथ जो जायेगा। इसे विपरीत स्वस्थ व्यक्ति के संपर्क रहकर एक अस्वथ व्यक्ति भी अपनी दिनचर्या, आचार—विचार, खान—पान इत्यादि में आवश्यक बदलाव कर स्वास्थ्य के प्रति जागरूक हो जाता है।

 

 

असल में हम पहले माहौल बनाते हैं फिर माहौल हमें बनाता है। अक्सर देखा गया है कि लोग अपने जैसे लोगों से दोस्ती एवं संपर्क रखते हैं। असफल लोगों अपनी असफलता का कारण अपने अलावा दुनिया के हरएक संभव कारण बता देता है, और पूरी मनोयोग से अपनी भावी पीढ़ी को वे सभी गुर सिखाते हैं, जिन्हें अजमाकर वे असफल हुए हैं। बंधुओं अगर हम बीमार होते हैं तो एक सफल डॉक्टर के पास जाते हैं न कि एक असफल डॉक्टर या ऐसे व्यक्ति के पास जो मेडिकल इंट्रेंस में ही असफल हो गया हो।

 

 

यह भी याद रखें जब हम बीमार होते हैं तो यार—दोस्त या सगे संबंधी जो डॉक्टर नहीं हैं, कई सारे नुक्से या दवाईयॉं बता देते हैं बिना किसी फीस के पर असल में जो डॉक्टर है वे पहले अपना फीस वसूलते हैं और बाद में ईलाज शुरू करते हैं। जीवन में हरकदम यही होता है। असफल लोग हमें सलाह देने के लिए हरसमय उपलब्ध रहते हैं। अगर आपको सफल होना है तो सफल लोगों से ही संगत कीजिये। अगर सफल लोगों से सलाह लेने के लिए कुछ खर्च भी करना पड़े तो अवश्य करें। यह निवेश आपको कई गुणा अधिक लाभदायक होगा।

 

 

 

 

गरीबी को सफलता की राह में बाधक न मानें
गरीबी सफलता की राह में बाधक नहीं होती और न ही सफल होने के लिए कोचिंग क्लास जैसा कोई सपोर्ट सिस्टम जरूरी होता है।

 

किनारा न मिले तो कोई बात नहीं, दुसरो को डुबाके मुझे तैरना नहीं हे।

 

अपने लिए नहीं तो उन लोगों के लिए कामयाब बनो, जो आपको नाकामयाब देखना चाहते हैं |

 

किसी मूर्ख से बहस करने से बेहतर है कि शांत रहा जाए

 

मूर्ख से बहस करने से बेहतर है कि शांत रहा जाए

 

मैं अपनी गलती पर शर्मिंदा हूँ, मैं भूल गया था कि तुम एक मूर्ख हो।

 

आत्मसम्मान एक छोटी सी चीज़ है जो आपको दूसरों से अलग बनाती है।

 

जो दिल का सच्चा होता है वो झगड़ा चाहे जितना करे लेकिन कभी छोड़ के नहीं जाएगा।

 

चपन से ही शौक था अच्छा इंसान बनने का, लेकिन बचपन खत्म और शौक भी खत्म।

 

ख्वाहिशों के दाम ऊँचे हो सकते है लेकिन खुशियाँ महँगी नहीं होती।

 

ख़ामोशी का अपना एक अलग ही मज़ा है, पेड़ो की जड़ें फड़फड़ाया नहीं करती दोस्ती

 

सबको अच्छे लगना जरूरी नहीं किसी की आँखों मे खटकना भी जरूरी है।

 

ना ही कद बड़ा होता ? है और ना ही पद बड़ा होता हैं, बड़ा वो होता है जो मुसीबत में एक दूसरे के लिये हमेशा खड़ा होता हैं ।।

 

समझ मे आया तो अच्छा है वरना तू अभी बच्चा है।

 

 

#हमें_यह_नहीं_पता_कि_क्या_ढ़कना_है_और_क्या_खुला_रखना_है ??*

*हम भारत वासियों को कवर चढ़ाने का बहुत शौक है |*

बाज़ार से बहुत सुंदर सोफा खरीदेंगे लेकिन फिर उसे भद्दे सफेद जाली के कवर से ढक देंगे |🤔

बढ़िया रंग का सुंदर सूटकेस खरीदेंगे | फिर उस पर मिलिट्री रंग का कपड़ा चढ़ा देंगे |🤔

 

मखमल की रजाई पर फूल वाले फर्द का कवर
फ्रिज पर कवर
माइक्रोवेव पर कवर
वाशिंग मशीन पर कवर
मिक्सी पर कवर
थर्मस वाली बोतल पर कवर
TV पर कवर
कार पर कवर
कार की कवर्ड सीट पर एक और कवर
स्टेयरिंग पर कवर
गियर पर कवर
फुट मैट पर एक ओर कवर
सुंदर शीशे वाली डाइनिंग टेबल पर प्लास्टिक का कवर
स्टूल कवर
चेयर कवर
मोबाइल कवर
बेडशीट के ऊपर बेड कवर
गैस के सिलिंडर पर कवर
RO पर कवर
किताबों पर कवर
*काली कमाई पर कवर*
*गलत हरकतों पर कवर*
*बुरी नियत पर कवर*

लेकिन…..

*कचरे के डिब्बे पर ढक्कन नदारद*
*खुली नालियों के कवर नदारद*
*कमोड पर ढक्कन नदारद*
*मैनहोल के ढक्कन नदारद*
*सर से हेलमेट नदारद*
*खुले खाने पर से कवर नदारद*
*आधुनिकता में तन से कपडे नदारद*!
*इन्सानों के दिल से इंसानियत नदारद !*

*क्या ढकना है और क्या खुला रखना है ?*
*हम लोग आज तक ये नहीं समझ पाये?

शेयर करे
The Viralline News

 

 

 

Author : Ashok Chaudhary
Loading...

Share With

Tag With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

Loading...

आपके लिए

TRENDING