loading...

उत्तर प्रदेश: जहरीली शराब पीने से हुई मौतों पर आबकारी मंत्री ने क्या कहा जानिए…

  • 09 February,2019
  • 164 Views
उत्तर प्रदेश: जहरीली शराब पीने से हुई मौतों पर आबकारी मंत्री ने क्या कहा जानिए…

गोरखपुर: आबकारी मंत्री जयप्रताप सिंह ने कुशीनगर और सहारनपुर में जहरीली शराब से हुई क्रमश: नौ और 36 मौतों पर गहरा दु:ख व्यक्त करते हुए कहा कि इन मामलों में दोषी पाए गए कारोबारियोंे के अलावा संरक्षण देने वाले अधिकारियों-कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने माना कि कच्ची और अवैध शराब के खिलाफ आबकारी और पुलिस के संयुक्त अभियानों के बावजूद इस पर पूरी तरह रोक नहीं लग पा रही है।

 

-गोरखपुर में मुख्यमंत्री द्वारा नवनिर्मित एनेक्सी भवन के उद्घाटन के मौके पर आबकारी मंत्री जय प्रताप सिंह ने की पत्रकारों से बात

-कुशीनगर और सहारनपुर की घटना को बताया दुर्भाग्यपूर्ण, बोले-सख्त कार्रवाई की जा रही है

 

गोरखपुर सर्किट हाउस के पास नवनिर्मित एनेक्सी भवन का मुख्यमंत्री द्वारा उद्घाटन किए जाने के मौके पर आए जयप्रकाश सिंह ने पत्रकारों से बातचीत की। उन्होंने कहा कि वह, प्रदेश के मुख्य सचिव, आबकारी आयुक्त और प्रमुख सचिव कई बार वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सम्बधित जिलों के पुलिस कप्तानों और आबकारी अधिकारियों को संयुक्त टीम बनाकर कच्ची और अवैध शराब के खिलाफ सघन कार्रवाई का आदेश दे चुके हैं। इसके बाद भी लापरवाही करने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने माना कि आबकारी और पुलिस के बीच समन्वय में कहीं-कहीं दिक्कत आ रही है। लेकिन दावा किया कि पिछले दो वर्षों से कच्ची और अवैध शराब के खिलाफ लगातार छापामारी, भट्टियां तोड़ने की कार्रवाई और गिरफ्तारियां हो रही हैं।

 

कुशीनगर और सहारनपुर की घटनाओं में एक्शन की दी जानकारी

आबकारी मंत्री ने बताया कि कुशीनगर की घटना के बाद जिला आबकारी अधिकारी, सर्किल इंस्पेक्टर और सम्बन्धित सिपाहियों को निलम्बित कर दिया गया। बिहार सीमा पर कच्ची बनाने वाले राजेन्द्र जायसवाल के खिलाफ केस दर्ज कर उसे पकड़ा गया है। उसके साथियों की तलाश में लगातार छापामारी हो रही है। संयुक्त टीमों की छापामारी में अवैध शराब के 400-500 अन्य कारोबारी भी पकड़े गए हैं। सहरानपुर की घटना के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि मरने वालों ने उत्तराखंड की सीमा में डेढ़-दो किलोमीटर जाकर शराब पी थी। वहां की सरकार, आबकारी विभाग और पुलिस वहां कार्रवाई कर रही है। यहां जिला आबकारी आबकारी अधिकारी, सर्किल इंस्पेक्टर और सम्बन्धित सिपाही को निलम्बित कर दिया गया है।

 

 

दोनों घटनाओं में दो-दो एफआईआर दर्ज कराकर कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने बताया कि कुछ समय पहले आजमगढ़ की घटना के बाद 35-40 लोगों को पकड़कर गैंगेस्टर एक्ट और आजीवन कारावास की सजा वाली आबकारी की धाराओं में कार्रवाई की गई थी। सभी आरोपी अभी भी जेल में हैं। ऐसी ही कार्रवाई कानपुर में जहरीली शराब से 12 लोगों की मौत के बाद भी हुई थी।

 

 

Author : Ashok Chaudhary
Loading...

Share With

Tag With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

Loading...

आपके लिए

TRENDING