प्रतापगढ़:  ‘‘ न्याय रैली’’ में प्रदेश के हजारों किसानों ने अपना दल के साथ मिलकर बीजेपी सत्ता को चुनौती,  

  • 11 February,2019
  • 671 Views
प्रतापगढ़:  ‘‘ न्याय रैली’’ में प्रदेश के हजारों किसानों ने अपना दल के साथ मिलकर बीजेपी सत्ता को चुनौती,  

लखनऊ: आज आईटीआई मैदान, प्रतापगढ़ में आयोजित अपना दल की ‘‘ न्याय रैली’’ में प्रदेश के हजारों किसानों ने अपना दल के साथ मिलकर बीजेपी सत्ता को चुनौती दी। इस ‘‘न्याय रैली’’ में प्रसपा राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव, पंकज निरंजन, प्रो0 गंगाराम यादव, प्रेमचन्द्र मौर्य, राष्ट्रीय महासचिव अपना दल, एवं अपना दल की प्रदेश अध्यक्ष पल्लवी पटेल उपस्थिति रही। ‘‘न्याय रैली’’ की अध्यक्षता अपना दल की राष्ट्रीय अध्यक्ष कृष्णा पटेल और संचालन युवामंच के प्रदेश अध्यक्ष गगन प्रकाश यादव ने किया।

 

न्याय रैली में पधारे बतौर अतिथि प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि,  आलू का किसान आज सरकार की खराब नीतियों के कारण बेबस और लाचार है सरकार चाहे तो इन नीतियों में तब्दीली करके किसानों को बेहतर दाम दिला सकती है मगर बीजेपी ने ऐसा नहीं किया।

 

शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि, शिक्षामित्रों के साथ बीजेपी ने सबसे बड़ा धोखा किया है इन बीजेपी के बेईमानों ने एक आदेश में उनके सपनों को तोड़ दिया, वो बोले थे अच्छे दिन आएँगे क्या अच्छे दिन आये…? नोटबन्दी ने देश की कमर तोड़ दी है। प्रधानमंत्री विदेश तो बहुत घूमते हैं लेकिन देश को भूल जाते हैं।

 

 

 

इस न्याय रैली में अपना दल प्रदेश अध्यक्ष पल्लवी पटेल ने देश के युवा बेरोजगारों को संबोधित करते हुए कहा कि,  हमारी लड़ाई बेरोजगारी के खिलाफ है, क्योंकि ये बेरोजगारी आदमी से उसके सम्मान से जीने का अधिकार भी छीन लेती है जब रोजगार मिल जाएगा तो हमें संम्मान से जीने का अधिकार भी मिल जाएगा।

 

 

पल्लवी पटेल ने कहा कि, देश में वर्तमान समय में लगभग 18 करोड़ से अधिक युवा बेरोजगार है जो अभी भी रोजगार की तलाश में भटक रहे हैं और अपने भविष्य को अंधेरे में तलाश रहे हैं, रोजगार की बेबसी का आलम ये है कि लगभग 40 करोड़ से अधिक लोग भारत में लगभग 5500 रुपये प्रतिमाह की नौकरी करने को मजबूर हैं ऐसे में सोचिये कि वो क्या खाएंगे और अपने बच्चों को क्या पढ़ाएंगे….?

 

 

पल्लवी पटेल ने कहा कि, तो इसलिए अपना दल की मूल लड़ाई है कि हमें बेरोजगारी के खिलाफ लड़ना है और बहुत जल्द ही अपना दल ‘‘युवा चेतना यात्रा’’ लेकर उत्तर प्रदेश के गाँव-गांव में जायेगा और ये बताएगा कि कैसे केन्द्र सरकार और प्रदेश सरकारों ने युवाओं के साथ धोखा किया, दलितों के साथ धोखा किया किसानों के साथ किया और हमारी उन्नति और तरक्की के अवसरों को बेंच दिया विदेशी कम्पनियों के हाथों में और हम इसी धोखे का न्याय चाहते हैं।

 

 

न्याय रैली’’ की अध्यक्षता कर रही अपना दल की राष्ट्रीय अध्यक्ष कृष्णा पटेल ने कार्यकर्ताओं का हौसला अफजाई करते हुए कहा कि हमारी आबादी गांव में रहती है खेतिहर है यहां हमारी ग्रामीण शिक्षा व्यवस्था हमारे गांव की स्वास्थ्य की सुविधाओं पर कोई गंभीर और ठोस काम नहीं दिखता हैँ लेकिन हाँ, बड़े फ्लाईओवर बनाने का अरबों खरबों रुपयों का बजट पास हुआ, बड़ी सड़कें बनाने की योजनाएं बनी ऐसे फ्लाईओवर और सड़कें हम गरीबों और किसानों के किस काम की और उस पर चलने का भी किराया हमें देना पड़ता है और अब फिर चुनाव का समय आ गया है कुछ महीनों में देश में आम चुनाव घोषित होंगें।

 

उन्होंने कहा कि, देश अपने लिए नई सरकार और नया प्रधानमंत्री चुनेगा और इसको लेकर तरह तरह के बंधन गठबंधन हो रहे हैं। पहले भी हुए लेकिन सवाल गठबंधन का नहीं है सवाल हम कमेरों का हम वंचितों का है हमारी जिंदगी की कठिनाईयों से निजात पाने का है ये कौन लोग हैं जो वोटों के गणित में उलझा देना चाहते हैं हमारी माँगों को लेकर हमें बहुत सतर्क रहने की जरूरत है.

 

 

कृष्णा पटेल ने  कहा कि, उन लोगों से जिन लोगों का इतिहास पिछड़ों किसानों के दमन से भरा पड़ा है जो लोग कुख्यात रहे हैं दलितों और पिछड़ों के नाम पर जातीय वर्चस्व कायम करने के लिए हमें ऐसे लोगों से बहुत सतर्क रहने की जरूरत है हमारे लिए किसी की हार किसी की जीत का कोई मोल नहीं है हमारे लिए कीमत है इस बात की कि हमारी मांगें कौन सी सरकार पूरी करेगी। और ध्यान रखना कि जो भी आपकी मूल जरूरतों से अलग आपसे बात करें समझ जाइये वो आपको भटका रहे हैं। और शिवपाल जी आज इस मंच पर आए मुझे यहां समर्थन देने में उनकी आभारी हूँ। ये न्याय रैली है इसमें सबको न्याय मिलेगा।

 

 

इस न्याय रैली में सर्वश्री आनन्द हीराराम पटेल, चैधरी देवी सिंह, आर0बी0 सिंह पटेल, बाबा रामाधार सिंह पटेल, विक्की मौर्य, अशोक पटेल रैली प्रभारी, राजवन सिंह पटेल, उदल राजभर, महेन्द्र मास्टर, दिलीप पटेल, आनन्द श्रीवास्तव, डा0 सी0एल0 पटेल, बांकेलाल पटेल और मंण्डल एवं जिलाध्यक्षों सहित आदि लोगों ने अपने विचार व्यक्त किये।

 

 

 

 

 

 

 

Author : kapil patel

Share With

You may like

Leave A Reply

Follow us on

आपके लिए

TRENDING