सोनभद्र नरसंहार में जान गंवाने वाले परिजनों और घायल पीड़ितों से मिलीं प्रियंका गांधी, कहा-कांग्रेस पार्टी हर सुख-दुःख में आपके साथ है

  • Line : kapil patel
  • 13 August,2019
  • 57 Views
सोनभद्र नरसंहार में जान गंवाने वाले परिजनों और घायल पीड़ितों से मिलीं प्रियंका गांधी, कहा-कांग्रेस पार्टी हर सुख-दुःख में आपके साथ है

वाराणसी : कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सोनभद्र के उभा गांव का दौरा किया। यहां पर जमीन विवाद को लेकर पिछले महीने हुई गोलीबारी में गांव के दस लोगों की मौत हो गई थी। घर आकर मिलने का वादा निभाने के लिये कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी आज यानी मंगलवार दोपहर को सोनभद्र के उभ्भा गांव पहुंचीं। यहां पर उन्होंने 17 जुलाई को हुए भूमि विवाद में मारे गए लोगों के आश्रितों और घायलों के पीड़ितों का हालचाल जाना।

 

 

उभ्भा गांव जाकर कांग्रेस महासचिव ने उस जगह का मुआयना किया जहां, 17 जुलाई को गोलीबारी हुई थी। जिसमें 10 लोगों की मौत और 28 लोग घायल हुए थे। प्रियंका गांधी ने बताया कि करीब 80-90 निर्दोष लोगों के खिलाफ मुकदमे दर्ज किए गए हैं। वहीं महिलाओं पर भी गुंडा एक्ट लगाया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार अगर कोई कार्रवाई करे तो, जिन पर फर्जी मुकदने लगाए गए हैं, उन्हें वापस लिया जाए। क्योंकि ये लोग पहले से ही प्रताड़ित हैं, जिन पर अत्याचार हुआ है।

 

 

 

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी कहा कि सोनभद्र में उभ्भा गाँव के आदिवासी बहनों-भाइयों से बात करके यह स्पष्ट हुआ कि-

1. उन्हें अपनी जमीन का मालिकाना हक़ जब तक नहीं मिलेगा तब तक वह असुरक्षित रहेंगे और उन्हें प्रताड़ित किया जाएगा, 2. आरोपी प्रधान द्वारा गाँव की महिलाओं और पुरुषों पर दर्ज कराए मुक़दमें और उन पर प्रशासन द्वारा लगाया गया गुंडा ऐक्ट रद्द किया जाना चाहिए। 3. अभी तक गाँव में पुलिस चौकी नहीं लगी। उभ्भा के निवासी अभी भी दहशत में जी रहे हैं।

 

 

 

 

इससे पहले प्रियंका गाँधी ने वाराणसी के लालबहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर मंगलवार सुबह करीब 10 बजे पहुंचीं और फिर वहाँ से सड़क मार्ग से उम्भा गांव रवाना हुईं| एयरपोर्ट पर पूर्व सांसद डॉ राजेश मिश्र, कांग्रेस नेता अजय राय, पूर्व विधायक ललितेश पति त्रिपाठी सहित कांग्रेस नेताओं ने प्रियंका गांधी को गुलदस्ता देकर स्वागत किया। सोनभद्र जाते समय प्रियंका गांधी उस जगह पहुंचीं, जहां उनका पहले काफिला रोका गया था। यहां वह कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मिलीं। मिर्जापुर जिले के नरायनपुर में लोगों ने स्वागत किया और फूलमाला पहनाई। करीब दो मिनट रुकने के बाद काफिला आगे बढ़ गया।

 

 

 

सोनभद्र पहुँचने से पहले कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा, चुनार के किले पर मुझसे मिलने आए उभ्भा गाँव के पीड़ित परिवारों के सदस्यों से मैंने वादा किया था कि मैं उनके गाँव आऊँगी। आज मैं उभ्भा गाँव के बहनों-भाइयों और बच्चों से मिलने, उनका हालचाल सुनने-देखने, उनका संघर्ष साझा करने सोनभद्र जा रही हूँ।

 

 

 

 

 

 

 

 

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने उम्भा में सोनभद्र नरसंहार के पीड़ितों, उनके परिजनों तथा गांव वालों से मिलकर उनका दर्द साझा किया और न्याय की अंतिम सीढ़ी तक उनके साथ खड़े रहने का विश्वास दिलाया। इस दौरान अनुच्छेद 370 पर प्रियंका गांधी ने बात करते हुए कहा कि ,जिस तरह से यह किया गया है वह पूरी तरह से असंवैधानिक है और यह लोकतंत्र के सभी सिद्धांतों के खिलाफ है, इस तरह के काम किए जाने पर नियमों का पालन किया जाना चाहिए, जिनका पालन नहीं किया गया।

 

 

 

इस बीच, प्रदेश के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा कि, प्रियंका गांधी वाड्रा को पछतावे की भावना के साथ सोनभद्र का दौरा करना चाहिए, क्योंकि यह घटना एक तरह से सत्तारूढ़ कांग्रेस नेताओं द्वारा किए गए भूमि अधिग्रहण से जुड़ी है, लेकिन मुझे लगता है कि वह मीडिया ट्रायल का हिस्सा बन रही है या राजनीतिक स्टंट।

 

 

 

 

 

उभ्भा गांव जाकर कांग्रेस महासचिव ने उस जगह का मुआयना किया जहां, 17 जुलाई को गोलीबारी हुई थी। जिसमें 10 लोगों की मौत और 28 लोग घायल हुए थे।

 

 

 

 

 

गौरतलब है कि सोनभद्र के घोरावल थाना क्षेत्र स्थित इलाके में 17 जुलाई को जमीन के एक टुकड़े को लेकर हुए संघर्ष में 10 ग्रामीणों की हत्या कर दी गई थी और 28 अन्य घायल हो गए थे|मारे गए लोगों के परिजनों से मिलने 19 जुलाई को जा रहीं प्रियंका को मिर्जापुर जिला प्रशासन ने बीच में ही रोक लिया था| उनके धरने पर बैठने पर उन्हें हिरासत में ले लिया गया था|बाद में उन्हें चुनार गेस्ट हाउस ले जाया गया था|अगली सुबह गोलीकांड के पीड़ित कुछ परिवारों ने गेस्ट हाउस आकर प्रियंका से मुलाकात की थी|

 

 

 

 

 

आपके लिए

You may like

Follow us on

आपके लिए

TRENDING