लंदन: अदालत ने भगोड़ा नीरव मोदी की जमानत याचिका की खारिज, अगली सुनवाई 26 अप्रैल, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किया जाएगा पेश

  • 29 March,2019
  • 171 Views
लंदन: अदालत ने भगोड़ा नीरव मोदी की जमानत याचिका की खारिज, अगली सुनवाई 26 अप्रैल, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किया जाएगा पेश

यूनाइटेड किंगडम:PNB घोटाले में भगोड़ा हीरा व्यापारी नीरव मोदी (Fugitive Nirav Modi) की जमानत याचिका पर सुनवाई शुरू हो चुकी है है। लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट में नीरव मोदी की जमानत पर सुनवाई चल रही है।

 

भारतीय एजेंसियों के प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की संयुक्त टीम भगोड़ा नीरव मोदी की लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में जमानत की सुनवाई के लिए पहुँची है |लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में नीरव मोदी की जमानत पर सुनवाई आज सुबह 11 बजे शुरू होगी।

 

LIVE Updates:

Fugitive Nirav Modi’s bail hearing at Westminster Magistrate Court in London

 

 

यूनाइटेड किंगडम: भारतीय एजेंसियों के प्रवर्तन निदेशालय (ED) और केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) की संयुक्त टीम लंदन के वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत से रवाना हो गई है। अदालत ने आज नीरव मोदी की जमानत याचिका खारिज कर दी है और सुनवाई की अगली तारीख 26 अप्रैल तय की है।

 

 

 

26 अप्रैल को लंदन के वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में होने वाली अगली सुनवाई में भगोड़ा हीरा व्यापारी नीरव मोदी को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेश किया जाएगा। उनकी जमानत अर्जी आज कोर्ट ने खारिज कर दी है।

 

 

 

 

लंदन के वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में भारतीय एजेंसी के अधिकारियों ने जज को नीरव मोदी की जमानत से इनकार करने के बाद अंगूठे दिखाते हुए और एक-दूसरे का हाथ हिलाते हुए देखा।

 

 

 

लंदन के वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत ने नीरव मोदी की जमानत याचिका खारिज कर दी।सुनवाई की अगली तारीख 26 अप्रैल है।

 

 

नीरव मोदी के वकील ने कहा कि, जमानत के लिए रक्षा संबंधी शर्तों में घर की गिरफ्तारी और इलेक्ट्रॉनिक निगरानी है जो सामान्य से अधिक कठोर हैं, जिसमें पूरे दिन इलेक्ट्रॉनिक टैग निगरानी और स्थानीय पुलिस स्टेशन को रिपोर्ट करना शामिल है। उसे एक विशेष फोन दें जिसे अधिकारियों द्वारा एक्सेस किया जा सके|

 

 

नीरव मोदी के अटॉर्नी क्लेयर मोंटगोमरी ने कहा कि, नीरव मोदी जनवरी 2018 से ब्रिटेन में हैं। उन्हें अगस्त से जानते है, कि वह 2018 में ही प्रत्यर्पित होने जा रहा है। उसके पास सुरक्षित ठिकाने के रूप में कोई जगह नहीं है। वह यूके में खुलेआम रहता है और उसने छिपने का कोई प्रयास नहीं किया है।

 

 

नीरव मोदी की जमानत याचिका में लंदन के वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में लंच ब्रेक के बाद दोबारा सुनवाई शुरू

 

 

क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस का प्रतिनिधित्व करने वाले टोबी कैडमैन ने लंदन के वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में कहा था कि नीरव मोदी ने एक गवाह को ‘आशीष लाड’को उसे जान से मारने की धमकी दी।

 

 

मामले की सुनवाई अब लंच ब्रेक के बाद 2.10 बजे (लंदन समय) पर फिर से शुरू होगी।

 

 

लंदन के वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत में भारतीय अधिकारियों की ओर से मुकुट अभियोजन का प्रतिनिधित्व करने वाले टोबी कैडमैन ने कहा कि, नीरव मोदी भारतीय एजेंसियों के साथ सहयोग नहीं कर रहा है और जोखिम है कि वह बाहर भाग जाएगा। वहाँ जोखिम है कि वह गवाहों को प्रभावित करेगा और सबूत नष्ट कर देगा।

 

 

लंदन के वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में नीरव मोदी की जमानत याचिका पर सुनवाई शुरू।

 

 

 

प्रवर्तन निदेशालय के संयुक्त निदेशक सत्यब्रत कुमार की प्रतिनियुक्ति, उनके 5 वर्ष के कार्यकाल के पूरा होने के बाद समाप्त हो गई है|वह MBZO-I में कोयला ब्लॉक मामले की जांच की निगरानी करना जारी रखेगे। अन्य सभी फाइलें संबंधित अधिकारियों से सीधे अपर निदेशक (डब्ल्यूआर) के रूप में चिह्नित की जाएंगी जो आगे के आदेशों के लिए (सत्यब्रत कुमार) के आरोपों की देखरेख करेंगे। वह लंदन के वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत में भी मौजूद हैं, जहां नीरव मोदी की जमानत याचिका पर सुनवाई जल्द शुरू होगी।

 

 

 

 

लंदन के वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत में भारतीय अधिकारियों की ओर से मुकुट अभियोजन का प्रतिनिधित्व करने वाले टोबी कैडमैन ने कहा कि, नीरव मोदी को जमानत मिलने पर, हम इसके खिलाफ उच्च न्यायालय में अपील करेंगे। हम उसे बनाए रखने के लिए सब कुछ करेंगे।

 

 

 

 

नीरव मोदी को उनकी जमानत की सुनवाई के लिए लंदन के वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में लाया गया है।

 

 

 

Author : kapil patel

Share With

आपके लिए

You may like

Leave A Reply

Follow us on

आपके लिए

TRENDING